March 27, 2017

ताज़ा खबर

 

बिहार विधान सभा में बीजेपी विधायक ने कहा- नीतीश सरकार ने कब्रिस्तान के लिए दिए 700 करोड़ रुपये, श्मशान के लिए दे 2500 करोड़

बीजेपी ने यह मुद्दा सदन के बाहर भी उठाया और श्मशानों को विकसित करने की नीति में कमी के लिए सरकार की आलोचना की।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार (बाएं) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (इंडियन एक्सप्रेस ग्राफिक्स)

यूपी विधानसभा चुनावों में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्मशान और कब्रिस्तान का मुद्दा उठाया था, जो अब बिहार विधानसभा तक पहुंच गया है। शुक्रवार को बीजेपी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर अल्पसंख्यकों के तुष्टीकरण का आरोप लगाया। पार्टी ने नीतीश सरकार से मुसलमानों के कब्रिस्तान और हिंदुओं के श्मशान की भूमि के लिए निर्धारित राशि देने को कहा। बिहार में बीजेपी ने दावा किया कि सरकार ने कब्रिस्तान के विकास के लिए 700 करोड़ रुपये दिए हैं। बीजेपी ने कहा कि हिंदू बहुल आबादी होने के कारण श्मशान के विकास के लिए 2500 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएं। बीजेपी ने यह मुद्दा सदन के बाहर भी उठाया और श्मशानों को विकसित करने की नीति में कमी के लिए सरकार की आलोचना की।

दरभंगा से बीजेपी विधायक संजय सारोगी ने सरकार विरोधी प्रस्ताव लाते हुए कहा कि श्मशान / मुक्ति केंद्रों के लिए सरकार एक आवंटन करती है। मुख्यमंत्री की जगह इस सवाल का जवाब देते हुए बिहार के गृह मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि शहरी इलाकों में म्युनिसिपल कॉरपोरेशन श्मशानों का रखरखाव करती हैं, लेकिन ग्रामीण इलाकों में उन्हें विकसित करने की कोई नीति नहीं है। जवाब से असंतुष्ट सारोगी ने सरकार से पूछा कि उसने श्मशानों के विकास के लिए 25 करोड़ रुपये भी नहीं दिए, जबिक कब्रिस्तान के विकास के लिए 700 करोड़रुपये दिए गए। उन्होंने कहा, हमें इस बात से परेशानी नहीं है कि आप अल्पसंख्यकों के लिए क्या कर रहे हैं, लेकिन आपने बहुमत आबादी के लिए क्या किया। आखिर क्यों सरकार के पास बहुमत आबादी के लिए कोई नीति नहीं है।

बता दें कि 20 फरवरी को फतेहपुर में रैली के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भेदभाव नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा था कि अगर किसी गांव में कब्रिस्तान बनता है तो शमशान भी बनना चाहिए। रमजान में बिजली आती है तो दिवाली में भी आनी चाहिए। होली पर बिजली मिलती है तो ईद पर भी मिलनी चाहिए। इस रैली में पीएम ने राहुल गांधी और अखिलेश यादव की रथ यात्रा के बिजली के तारों के बीच में फंसने की बात पर भी चुटकी ली थी। उन्होंने कहा था कि रथ के बिजली के तारों में फंसते ही अखिलेश यादव डरे नहीं क्योंकि वह जानते थे कि इन तारों में बिजली है ही नहीं।

भाजपा सांसद साक्षी महाराज बोले- "मुस्लिम भी दाह करें, नहीं बनने चाहिए कब्रिस्तान, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 18, 2017 9:41 am

  1. No Comments.

सबरंग