ताज़ा खबर
 

भोपाल में नमाज के बाद दो समुदायों में तनाव, पथराव, ह‍िंसा, आगजनी के बाद पुल‍िस ने काबू क‍िए हालात

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में धार्मिक स्थल को लेकर दो समुदायों के बीच हुए विवाद ने मंगलवार रात को हिंसा का रूप ले लिया।
Author भोपाल | May 31, 2017 13:35 pm
भोपाल में फैली हिंसा पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागने के साथ हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। इसके साथ ही 12 उपद्रवियों को हिरासत में ले लिया गया है।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में धार्मिक स्थल को लेकर दो समुदायों के बीच हुए विवाद ने मंगलवार रात को हिंसा का रूप ले लिया। उपद्रवियों ने पथराव करते हुए कई वाहनों में आग लगा दी। पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले दागने के साथ हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। इसके साथ ही 12 उपद्रवियों को हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, पुराने भोपाल क्षेत्र स्थित हमीदिया अस्पताल परिसर में भवन निर्माण के दौरान खुदाई में धार्मिक स्थल के अवशेष मिलने पर इस पर एक समुदाय ने अपना दावा किया लेकिन मंगलवार देर रात एक समुदाय विशेष के लोग पीरगेट इलाके में जमा हुए और पथराव करने लगे।

स्थानीय लोगों के अनुसार, बीते दो दिनों से तनाव के हालात बन रहे थे, लेकिन मंगलवार रात इस तनाव ने हिंसक रूप ले लिया। दोनों समुदाय के लोगों ने एक दूसरे पर पथराव किया। दुकानों और सड़क किनारे खड़े कई वाहनों में तोड़फोड़ के बाद आग लगा दी गई। पथराव में उपद्रवियों के साथ जवान भी घायल हुए।

पुलिस के मुताबिक, हालात बिगड़ते देख रैपिड एक्शन फोर्स बुलाई गई। पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज के साथ आंसू गैस के गोले दागे और हवाई फायरिंग की। भोपाल क्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक रमन सिंह सिकरवार ने बुधवार को आईएएनएस को बताया, “अब हालात सामान्य है। पुलिसबल की तैनाती की गई है। 12 उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है जबकि अन्य की तलाश जारी है। पुलिस की कार्रवाई में किसी को नुकसान नहीं पहुंचा है।”

पुराने भोपाल के इलाकों में कल देर रात दो समुदायों के बीच झड़प और पथराव होने के बाद उप्रदवियों ने लगभग एक दर्जन वाहनों और कुछ दुकानों में आग लगा दी। पथराव में पुलिसकर्मियों सहित कुछ लोग घायल हुए हैं।  स्थिति को काबू में करने के लिये पुलिस को आंसूगैस के गोले छोड़ने पड़े तथा हवाई फायर भी करने पड़े। देर रात के बाद पुराने भोपाल में तनाव व्यप्त होने से पूरे इलाके मेें पुलिस और आरपीएफ के जवान तैनात कर सुरक्षा व्यस्था कड़ी कर दी गयी। पुलिस अधीक्षक अरविंद  सक्सेना ने आज  को बताया, ‘‘पुलिस ने 8 लोगों को हिरासत में लिया है।’’ उन्होंने बताया कि दोनों समुदायों के सदस्यों को आपस में बातचीत के द्वारा तनाव कम कराने के प्रयास किये जा रहा हैं।

दो दिन पहले विवाद तब शुरु हुआ था जब हमीदिया अस्पताल के नये भवन के निर्माण की खुदाई के दौरान एक ढांचा निकलने के बात सामने आई थी। दोनों समुदायों के लोगों ने इस ढांचे को अपने से सम्बद्ध बताते हुए इस पर अपना दावा जताना शुरु कर दिया। इससे दोनो समुदायों के बीच तनाव बढ़ता ही गया और सोशल मीडिया ने अफवाहों को फैलाकर आग में घी का काम किया। जिला कलेक्टर निशांत वरवड़े ने कहा, ‘‘स्थिति शांतिपूर्ण है।’’ इस बीच ऐहतियात के तौर पर पुराने शहर में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग