ताज़ा खबर
 

मेडिकल पैनल ने नहीं दी गर्भपात की इजाजत, नाबालिग रेप पीडि़ता ने पूछा- कौन उठाएगा बच्चे की जिम्मेदारी

​मेडिकल पैनल के मुताबिक मेडिकल टर्मिनेशन आॅफ प्रेगनेंसी एक्ट के मुताबिक गर्भधारण के इतना वक्त गुजर जाने के बाद गर्भपात की इजाजत नहीं दी जा सकती है।
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के बरेली में 16 साल की नाबालिग रेप पीड़िता को कोर्ट की ओर से गर्भपात करवाने की इजाजत नही दिए जाने के बाद इस मामले में गठित मेडिकल पैनल ने भी अपनी रिपोर्ट में नाबालिग को गर्भपात करवाने की इजाजत नहीं दी है। मेडिकल पैनल की ओर से भ्रूण के 33 हफ्तों से ज्यादा का हो जाने के कारण पीड़िता को गर्भपात की इजाजत नहीं दी गई। इस मामले में पीड़िता का कहना है कि सिस्टम ना ही उसकी परेशानी समझ रहा है और ना ही उसके साथ कोई समानुभूति दिखा रहा है। नाबालिग रेप पीड़िता ने इस मामले में एक बार फिर हाइकोर्ट में याचिका दायर कर अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि बच्चे के जन्म के बाद उसकी परवरिश कौन करेगा।

गौरतलब है कि नाबालिग रेप पीड़िता ने इस साल 26 जुलाई को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट-2 के पास अपने 26 हफ्ते पुराने भ्रूण के गर्भपात कराने की इजाजत देने के लिए याचिका दायर की थी। उसने अंग्रेजी अखबार द टाइम्स आॅफ इंडिया के साथ बातचीत में कहा, ‘मैं अभी बच्चे की परवरिश के लिए तैयार नहीं हूं ना ही मेरी वित्तिय स्थिति इसकी इजाजत देती है। जन्म के बाद यह बच्चा मेरे साथ हुई घटना के बारे में मुझे याद दिलाता रहेगा और मेरे लिए शर्म का कारण बनेगा।’

इस मामले में गठित मेडिकल पैनल ने पीड़ित नाबालिग लड़की को यह कहते हुए गर्भपात की इजाजत नहीं दी कि मेडिकल टर्मिनेशन आॅफ प्रेगनेंसी एक्ट के मुताबिक गर्भधारण के इतना वक्त गुजर जाने के बाद गर्भपात की इजाजत नहीं दी जा सकती है। इस मामले में पीड़ित पक्ष के वकील वीपी ध्यानी ने कहा, ‘हम हाइकोर्ट में इस संबंध में एक बार फिर याचिका दायर करेंगे। हम कोर्ट से पूछेंगे कि आखिर बच्चे की जिम्मेदारी किसकी होगी। हम कोर्ट से बच्चे के भविष्य के लिए उचित कदम उठाने की दरख्वास्त करेंगे और बच्चे के जन्म के बाद उसकी परवरिश सुनिश्चित करने के लिए कहेंगे।’

Read Also: लकड़ी कम पड़ी तो शहीद का शव काट कर जलाया, अफसरों और परिजनों ने किया इनकार

गौरतलब है कि बरेली में एक नाबालिग लड़की ने 7 जून 2016 को रेप के बाद गर्भवती होने पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़िता के पिता ने पुलिस को बताया था कि वह जिसके घर पर काम करने जाती थी, उसी घर के मालिक ने उसका रेप किया था। पुलिस को दर्ज शिकायत में बताया गया था कि उस शख्स ने पहले तो लड़की का बलात्कार किया और फिर शादी का झांसा देकर उसके साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाए। पिता ने बताया था कि उसे दोनों के संबंधों के बारे में पहले कोई जानकारी नहीं थी।

Read Also: आजम खां बोले- मोदी फेल हो गए, मुझे PM की कुर्सी पर बिठाओ, बना दूंगा ‘अखंड़ भारत’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग