December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

मंदिर विवाद में स्वामी की अर्जी पर विचार करेगा सुप्रीम कोर्ट

अयोध्या मंदिर विवाद प्रकरण में भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी की अर्जी पर अगले हफ्ते विचार के लिए सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सहमत हो गया।

अयोध्या मंदिर विवाद प्रकरण में भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी की अर्जी पर अगले हफ्ते विचार के लिए सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को सहमत हो गया। प्रधान न्यायाधीश तीरथ सिंह ठाकुर और न्यायमूर्ति अनिल आर दवे के पीठ के समक्ष स्वामी ने इस अर्जी पर शीघ्र सुनवाई का अनुरोध किया था। अदालत ने उनकी अर्जी अगले हफ्ते के लिए सूचीबद्ध करने का आदेश दिया है। स्वामी ने कहा कि शीर्ष अदालत अयोध्या विवाद से संबंधित मामले में पहले ही उन्हें पक्षकार बना चुकी है और चूंकि यह मामला साढ़े पांच साल से भी अधिक समय से लंबित है, इसलिए अब इसकी रोजाना सुनवाई होनी चाहिए।

पीठ ने कहा कि वह स्वामी को सुनना चाहती है कि इस मामले की रोजाना सुनवाई क्यों होनी चाहिए। शीर्ष अदालत ने 26 फरवरी को स्वामी को अयोध्या विवाद से संबंधित लंबित मामले में हस्तक्षेप की अनुमति दे दी थी। स्वामी अयोध्या में गिराए गए विवादित ढांचे के स्थल पर राम मंदिर का निर्माण की अनुमति चाहते हैं। भाजपा नेता ने इससे पहले विवादित स्थल पर मंदिर निर्माण की अनुमति के लिए अर्जी दायर की थी और इस पर शीघ्र सुनवाई के लिए प्रधान न्यायाधीश के समक्ष इसका उल्लेख भी किया था।

स्वामी ने अपनी याचिका में दावा किया था कि इस्लामिक देशों में प्रचलित परंपराओं के अनुसार सड़क निर्माण सहित विभिन्न सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए मस्जिद को अन्यत्र स्थानांतरित किया जा सकता है जबकि एक बार मंदिर का निर्माण हो जाए तो उसे हाथ भी नहीं लगाया जा सकता है। उन्होंने राम जन्म भूमि विवाद पर इलाहाबाद हाई कोर्ट के तीन जजों के पीठ के 30 सितंबर, 2010 के फैसले को चुनौती देने वाली तमाम याचिकाओं का शीघ्र निपटारा करने का निर्देश देने का भी अनुरोध किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 19, 2016 12:49 am

सबरंग