असम: गुवाहाटी में नाले में बहते मिले फटे हुए 500 और 1000 रुपए के कई नोट

स्थानीय लोग नालों से सही-सलामत नोट ढूंढने के लिए टूट पड़े लेकिन 1 भी नोट सही हालत में नहीं मिला।

नाले में फटे मिले 500 और 1000 रुपए के कई नोट। (Photo: ANI)

कालेधन और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के उद्देश्य से देशभर में 500 और 1000 रुपए के नोट बैन करने के बाद बड़ी संख्या में नोट नष्ट करने की घटनाएं सामने आ रही हैं। ताजा घटना असम की राजधानी गुवाहाटी की है। सोमवार को यहां दो इलाकों में फटे हुए 500 और 1000 रुपए के नोट नाले में पाए गए हैं। नाले में पड़े फटे हुए इन नोटों की कीमत लाखों रुपए में बताई जा रही है। स्थानीय लोगों ने नाले से नोट के टुकड़ों को बाहर निकाला और इसे देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। स्थानीय लोग नालों से सही-सलामत नोट ढूंढने के लिए टूट पड़े लेकिन 1 भी नोट सही हालत में नहीं मिला। जानकारी के मुताबिक, नोट मिलने की घटना गुवाहाटी के घोड़ामारा व रुक्मिणी नगर दो इलाकों में हुई। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है और नोटों का सैंपल लेकर फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। हालांकि यह नोट क्यों और किसने इन्हें फेंका है यह अभी तक साफ नहीं हो पाया।

कोलकाता में बोरी में भरकर कूड़े में फेंके नोट:

रविवार को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में 500 और 1000 रुपए के नोट बोरी में भरकर कूड़े में फेंकने का मामला सामने आया था। नोटों के दो बोरे डस्टबिन में पड़े मिले और पुलिस के मुताबिक नोटों को कूड़े में फेंकने से पहले उन्हें फाड़ा गया था। घटना कोलकाता के गोल्फ क्लब रोड पर स्थित कूड़ा घर की थी। रविवार को सुबह स्थानीय लोगों के देखने के बाद यह मामला सामने आया।

यूपी में हुई दो घटनाएं:

मोदी सरकार के फैसले के बाद उत्तर प्रदेश में नोटों को नष्ट करने की दो घटनाएं सामने आईं। पहली घटना यूपी के बरेली की थी 500 और 1000 रुपए के जले हुए नोट पाए गए थे। कथित तौर पर एक कंपनी के कर्मचारी बोरियों में भरकर नोटों को लाए और उसके बाद उन्हें जलाया गया था। इसके अलावा शुक्रवार को यूपी के मिर्जापुर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। यहां गंगा नदी में हजार के नोट पानी में बहते हुए पाए गए थे। गंगा नदी में तैरते हुए नोटों की कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है।

500 और 1000 रुपए के नोटों को बदलवाने के लिए बैंकों के बाहर दिखी लोगों की लंबी कतारें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 14, 2016 1:17 pm

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग