ताज़ा खबर
 

‘भ्रष्टाचार के आरोप का मामले के चलते अरविंद केजरीवाल इस्तीफा दें या जेल जाएं’

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के मद्देनजर सोमवार को उन्हें पद से इस्तीफा देने या फिर जेल जाने को कहा।
Author नई दिल्ली | May 8, 2017 16:12 pm
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी।(Photo: PTI)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के मद्देनजर सोमवार को उन्हें पद से इस्तीफा देने या फिर जेल जाने को कहा। तिवारी ने केजरीवाल के 10 मई 2013 के ट्वीट का हवाला दिया जिसमें केजरीवाल ने कहा था, “क्या लोगों को भ्रष्टाचार के कारण इस्तीफा देना चाहिए या इन्हें भ्रष्टाचार के कारण जेल भेजा जाना चाहिए? तिवारी ने केजरीवाल से इस पर खुद फैसला लेने को कहा। उन्होंने कहा, “या तो जेल जाएं या इस्तीफा दें। अरविद केजरीवाल जी, दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते आप दिल्ली के लोगों के लिए फैसला कर सकते हैं। आपने ही कहा था। आम आदमी पार्टी सरकार से बर्खास्त किए गए मंत्री कपिल मिश्रा ने रविवार को केजरीवाल पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगाया था।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार से बर्खास्त किए गए पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के मामले में सोमवार को लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराने की मांग की है। मिश्रा ने कहा कि उन्होंने जल टैंकर घोटाला मामले में शिकायत दर्ज कराने के लिए सोमवार सुबह भ्रष्टाचार रोधी शाखा (एसीबी) के अधिकारियों से मुलाकात की। उन्होंने संवाददाताओं को बताया, “हम तीनों (केजरीवाल, जैन और मिश्रा) की लाई-डिटेक्टर जांच की जाए। सब साफ हो जाएगा कि कौन झूठ बोल रहा है और कौन सच।”
पूर्व जल एवं संसाधन मंत्री ने कहा कि वह इस संबंध में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से मिलकर शिकायत दर्ज कराएंगे।

वहीं दूसरी ओर इस मामले में आप के केजरीवाल के समर्थन में आने के बाद कपिल मिश्रा ने लाई डिटेक्टर कराए जाने की बात कही है। इससे पहले पार्टी ने कहा था कि कपिल मिश्रा के आरोप निराधार हैं और मुख्यमंत्री केजरीवाल की ईमानदारी पर सवाल उठाने का कोई प्रश्न ही नहीं है।
मिश्रा ने कहा, मैंने एसीबी अधिकारियों को सभी जानकारियां दे दी हैं। मैं उन्हें जनता के धन का दुरुपयोग और इस मामले की जांच में देरी होने के बारे में बता दिया है। कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल और पार्टी के दो अन्य नेता आशीष तलवार और विभव पटेल घोटाले की जांच में कदम उठाने में हो रही देरी के लिए जिम्मेदार हैं।

गौरतलब है कि 400 करोड़ रुपये के जल टैंकर घोटाले में निजी टैंकर ठेकेदारों को मनमाने तरीके से ठेका दिए जाने का आरोप है। यह घोटाल दिल्ली की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार में हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग