March 25, 2017

ताज़ा खबर

 

पाकिस्तानी हीरो और ओसामा बिन लादेन के पोस्टर में छपने के बाद केजरीवाल ने शाह पर लगाया यह आरोप

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज आरोप लगाया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनकी पार्टी रविवार को सूरत में उनकी रैली को बाधित करने का प्रयास कर रहे हैं।

Author अहमदाबाद | October 15, 2016 04:27 am
Ahmedabad: Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal talking to media on his arrival at Sardar Patel airport in Ahmedabad on Friday. PTI Photo (PTI10_14_2016_000280B)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज आरोप लगाया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनकी पार्टी रविवार को सूरत में उनकी रैली को बाधित करने का प्रयास कर रहे हैं। केजरीवाल ने कहा, ‘‘हमने रविवार को सूरत में एक रैली आयोजित की है जहां हम राज्य से जुड़े मुद्दों और उनके समाधान पर चर्चा करेंगे। आप लोगों से यह भी पूछेगी कि क्या हम गुजरात में विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं।’ आप नेता ने हवाईअड्डे पर कहा, ‘‘हालांकि यह पता चला है कि अमित शाह और भाजपा मेरी रैली बाधित करने का प्रयास कर रहे हैं। यह मेरी रैली नहीं, बल्कि यह गुजरात की जनता की रैली है। अगर वे रैली बाधित करते हैं तो वे गुजरात की जनता की भावनाआें से खेलेंगे… मुझे आशा है कि वे ऐसा नहीं करेंगे।’ केजरीवाल गुजरात के चार दिवसीय दौरे पर आज शाम यहां हवाईअड्डे पहुंचे। इस दौरे पर वह 2017 विधानसभा चुनावों से पहले पटेल समुदाय को लुभाने का प्रयास करेंगे।


वह मेहसाणा के लिए रवाना हुए जहां वह अगस्त 2015 में पटेल आरक्षण आंदोलन के दौरान पुलिस के साथ झड़पों में मारे गये लोगों के परिजनों से मिलेंगे।
सूरत में आप की रैली पटेलों के गढ़ वराछा में होगी। रैली से पहले, बुरहान वानी, हाफिज सईद और ओसामा बिन लादेन के साथ केजरीवाल की तस्वीरों वाले पोस्टर सूरत शहर में आज नजर आए जिसमें उन्हें ‘‘पाकिस्तान का हीरो’’ कहा गया। आप ने ‘’आपत्तिजनक’’ पोस्टरों के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 15, 2016 4:27 am

  1. B
    Bhagawana Upadhyay
    Oct 15, 2016 at 1:24 am
    Friday, 14 Oct, 1.06 pm सरकार के नए नियम से चैट करना नहीं रहेगा पर्सनल, जानिए कैसे hindi-epaper-thatshindi/sarakar ke nae niyam se chait karana nahi rahega parsanal janie kaise-newsid-59049243नई दिल्ली। सरकार जल्द ही एक ऐसा नियम बनाने जा रही है, जिसके तहत जीमेल, वाट्सऐप, स्नैपचैप और यहां तक कि अमेजन जैसे शॉपिंग पोर्टल को अपने यूजर्स की जानकारी जमा करके रखनी पड़ सकती है।सरकार इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्श
    Reply

    सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

    सबरंग