ताज़ा खबर
 

जान पर खेल कर लड़की ने बचाई इज्‍जत, वहशियों से बचने के लिए चलती ट्रेन से कूदी

लड़की की शादी होने वाली थी जिसके लिए वो अपने घर वापस जा रही थी।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

महिलाओं के संग अपराध के मामलों थमते नजर नहीं आ रहे हैं। ताजा मामला दक्षिण भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश का है। समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार विजयवाड़ा में एक 21 वर्षीय युवती छेड़खानी कर रहे लोगों से बचने के लिए चलती ट्रेन से कूद गई। लड़की की जल्द ही शादी होने वाली थी। वो शादी के लिए ही अपने घर वापस जा रही थी। लड़की को गंभीर चोटें लगी हैं। उसका इलाज जारी है। पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि घटना का पूरा ब्योरा अभी तक सामने नहीं आया है। एक अन्य घटना में उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक युवक-युवती ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी।

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार कुशीनगर जिले के पडरौना थाना क्षेत्र में गुरुवार सुबह एक युवक व युवती ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की जांच में लगी है। पुलिस के अनुसार, जिले के पडरौना थाना क्षेत्र के सिधुआ पुलिस चौकी अंर्तगत कप्तानगंज-थावे रेलवे ट्रैक पर गुरुवार की सुबह मिश्रौली गांव के सामने युवक-युवती के कटे शव रेल पटरी के किनारे मिलने के बाद बड़ी संख्या में लोग जुट गए। मौके पर ही ट्रैक के किनारे लाल रंग की हीरो स्प्लेंडर बाइक भी खड़ी मिली। पुलिस मृतकों की पहचान करने की कोशिश कर रही है। चर्चा है कि ये दोनों प्रेमी युगल थे। करीब दस दिन पहले घर से भागे थे।

पिछले महीने केंद्र सरकार द्वारा लोक सभा में दी गयी जानकारी के अनुसार नरेंद्र मोदी सरकार के गठन के बाद देश में छेड़खानी के मामले बढ़े हैं। डाटा वेबसाइट इंडिया स्पेंड ने के अनुसार साल 2014 की तुलना में साल 2016 में पूरे देश में छेड़खानी की घटनाएं 54 प्रतिशत ज्यादा हुई। पिछले तीन साल में भारत में स्टॉकिंग के कुल 18,097 मामले दर्ज हुए जिनमें 20,753 लोगों की गिरफ्तारी हुई। हालांकि ऐसे मामलों में सजा पाने की दर काफी कम रही। ऐसे मामलों में सजा पाने वालों की दर साल 2014 में 34.8 प्रतिशत, साल 2015 में 26.4 प्रतिशत और साल 2016 में 24.7 प्रतिशत रही। साल 2014 में 4699 मामले दर्ज हुए जिनमें 5439 लोग गिरफ्तार हुए लेकिन सजा केवल 134 को हुई। साल 2015 में 6266 मामले दर्ज हुए और 6694 लोग गिरफ्तार हुए, सजा 340 को हुई। साल 2016 में 7132 मामले दर्ज हुए और 8620 लोग गिरफ्तार हुए और सजा 379 को हुई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग