ताज़ा खबर
 

वरदा चक्रवात: हाई अलर्ट पर है आंध्र प्रदेश, 9400 लोग भेजे गए राहत शिविरों में

तिरुमाला पर्वत पर रविवार (11 दिसंबर) रात से हो रही बारिश के कारण श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
Author अमरावती | December 12, 2016 16:07 pm
वरदा चक्रवात की वजह से चेन्नई में बंदरगाह की ओर लौटते मछुआरे। (PTI)

आंध्र प्रदेश के एसपीएस नेल्लोर जिले में बंगाल की खाड़ी में तटों के नजदीक रहने वाले करीब 9,400 लोगों को सोमवार (12 दिसंबर) को राहत शिविरों में पहुंचाया गया। यहां शक्तिशाली वरदा चक्रवात के कारण भारी बारिश हो रही है। तमिलनाडु के रहने वाले छह मछुआरों को ऊंचाई पर स्थित श्री हरिकोटा के नजदीक स्थित सागर से बचाया गया जबकि दस और लोगों की तलाश जारी है। शक्तिशाली वरदा चक्रवात के श्रीहरिकोटा और चेन्नई पहुंचने की संभावना है और इसके मद्देनजर आंध्र प्रदेश के एसपीएस नेल्लोर जिले को हाई अलर्ट पर रखा गया है। नेल्लोर के पुलिस अधीक्षक विशाल गुन्नी ने बताया, ‘पुलिस और सीआईएसएफ अपना काम कर रहे हैं और दस मछुआरे सुरक्षित हैं। लेकिन वह किनारे नहीं आना चाहते। हम उन्हें जल्द ही वहां से बाहर निकाल लाएंगे।’

नगर प्रशासन मंत्री पी नारायण बचाव और राहत अभियान की निगरानी के लिए नेल्लोर में डटे हुए हैं। उन्होंने बताया कि वाकाडु और तादा में सुबह से क्रमश: 4.8 सेंमी और तीन सेंमी बरसात हुई। उन्होंने कहा, ‘सात संवेदनशील मंडलों से 9,400 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भिजवा चुके हैं। लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक इंतजाम किए गए हैं।’ इससे पहले मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने नेल्लोर जिला प्रशासन से 255 निचले इलाकों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने टेलिकान्फ्रेंस के जरिए स्थिति की समीक्षा की और अधिकारियों से जान-माल की हानि को रोकने के लिए हाई अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया। तिरुमाला पर्वत पर रविवार (11 दिसंबर) रात से हो रही बारिश के कारण श्रद्धालुओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

मंदिर के कार्यकारी अधिकारी डी संबाशिवा राव ने मंदिर के कर्मचारियों को श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए जरूरी इंतजाम करने को कहा है। वरदा के प्रभाव के कारण नेल्लोर और चित्तूर जिलों में भारी बारिश की आशंका है। नेल्लोर जिले के सूलूरूपेटा मंडल में सोमवार सुबह 30 लोगों को राहत शिविर में भेजा गया। दक्षिण मध्य रेलवे ने चक्रवात को देखते हुए सूलूरूपेटा और चेन्नई के बीच चलने वाली कुछ सवारी रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है। विजयवाड़ा-चेन्नई-विजयवाड़ा पिनाकिनी एक्सप्रेस और कुछ अन्य एक्सप्रेस रेलगाड़ियों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.