ताज़ा खबर
 

बड़े अस्पताल की ‘छोटी’ आइसीयू

एक बुजुर्ग महिला को अस्पताल में जगह दिलाने की दिल्ली पुलिस की तमाम कोशिशें नाकाम रहीं।
Author नई दिल्ली | March 29, 2017 00:44 am
प्रतीकात्मक चित्र

एक बुजुर्ग महिला को अस्पताल में जगह दिलाने की दिल्ली पुलिस की तमाम कोशिशें नाकाम रहीं। सोमवार रात बुजुर्ग महिला शशिकला को सांस संबंधी कुछ समस्या थी और शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के डॉक्टर ने उन्हें कुछ घंटे के लिए आइसीयू में रखने का सलाह दी और फिर यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि आइसीयू में बिस्तर खाली नहीं है लिहाजा बुजुर्ग को दूसरे अस्पताल में भर्ती कराएं।

दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी, पीसीआर की गाड़ी और थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर भी जब पीड़ित महिला को मैक्स अस्पताल में जगह नहीं दिला पाए तो फिर परिजनों ने उन्हें देर रात करीब 2:30 बजे पश्चिम विहार के बालाजी एक्शन अस्पताल में भर्ती कराया। मैक्स अस्पताल प्रशासन का तर्क है कि आइसीयू में सीमित जगह होती है लिहाजा प्राथमिकता के आधार पर रोगी को भर्ती किया जाता है।

सुप्रीम कोर्ट से रिटायर 66 साल की शशिकला अपने पति 70 अशोक मेहता के साथ पीतमपुरा इलाके में रहती हैं। शशिकला को सांस लेने में दिक्कत हुई। परिजन उन्हें रोहिणी सेक्टर-सात स्थित मीरा क्लीनिक के एसके नागरानी को दिखाने गए। नागरानी ने कहा कि उन्हें मैक्स अस्पताल ले जाया जाए चूंकि तकलीफ ज्यादा हो रही है। मैक्स अस्पताल पहुंचे और वहां डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें आइसीयू में कुछ घंटे रखने की जरूरत है लेकिन उनके यहां कोई बिस्तर खाली नहीं है। परिजनों के पास सीजीएचएस का कार्ड था लिहाजा वे आर्थिक रूप से खुद को मजबूत समझते हुए उसी अस्पताल के आइसीयू में भर्ती कराने का निर्णय लिया।

रात 12:00 बजे के बाद अस्पताल प्रशासन ने कहना शुरू कर दिया कि अब फर्स्ट एड देने का समय समाप्त हो गया है लिहाजा वह मरीज को दूसरे अस्पताल ले जाएं। महिला के परिजनों ने महिला को रात भर रखने की गुजारिश की लेकिन बिस्तर नहीं होने की बात कह कर अस्पताल ने उनकी नहीं मानी। परिजनों को लगा कि एक बार इलाके के थाने की पुलिस से अनुरोध किया जाए। शालीमारबाग थाने में तैनात ड्यूटी अफसर ने भी रात करीब 12:30 बजे अस्पताल से अनुरोध किया लेकिन उन्हें भी वही जवाब मिला। फिर पुलिस मुख्यालय स्थित पीसीआर कंट्रोल रूम को फोन कर परिजनों आपबीती सुनाई। इस वहां से जवाब मिला की इस संबंध में पीसीआर और थाने की पुलिस को सूचना भेजी जा रही है।

काबुल में 5 आत्मघाती हमलावरों ने किया आर्मी अस्पताल पर हमला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.