March 23, 2017

ताज़ा खबर

 

आज रात जैसलमेर में जवानों के साथ रहेंगे राजनाथ और वसुंधरा

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत-पाक सीमा पर पनपे तनाव के बाद जैसलमेर जिले में शुक्रवार रात केंद्रीय गृह मंत्री और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जवानों के साथ रहेंगे।

Author नई दिल्ली | October 7, 2016 03:21 am

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भारत-पाक सीमा पर पनपे तनाव के बाद जैसलमेर जिले में शुक्रवार रात केंद्रीय गृह मंत्री और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जवानों के साथ रहेंगे। प्रदेश का यह जिला भी सीमा से सटा हुआ है। इसके अलावा पाक सीमा से सटे चार प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों की भी यहां बैठक हो सकती है। इसमें सीमाई इलाकों के हालात पर मुख्यमंत्रियों से राजनाथ सिंह विचार करेंगे। गृह मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार सवेरे जैसलमेर पहुंचेंगे। इस दौरान सिंह वहां सेना और सीमा सुरक्षा बल के अफसरों के साथ बैठक भी करेंगे। बैठक के बाद सीमा की सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लेंगे। इस दौरान गृह मंत्री तनोट माता के मंदिर में विशेष पूजा और हवन में भी शिरकत करेंगे। इस मंदिर में बीएसएफ के जवानों की गहरी आस्था है। वसुंधरा राजे ने ही इस मंदिर में विशेष पूजा के निर्देश दिए हैं। सरकारी सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री इस इलाके में दो दिन रहेंगी।  जैसलमेर के पुलिस अधीक्षक गौरव यादव के अनुसार केंद्रीय गृह मंत्री के दौरे को लेकर बीएसएफ और सेना की तैयारियां चल रही हैं।

स्थानीय पुलिस भी सभी तरह की सुरक्षा तैयारियों में लग गई है। प्रशासन को केंद्रीय गृह मंत्री के साथ चार राज्यों के मुख्यमंत्री और गृह मंत्रियों की संभावित बैठक की भी तैयारी करने का निर्देश दिया गया है। पाकिस्तान सीमा से जुडेÞ चारों राज्यों की सीमाई स्थिति का पूरा आकलन गृह मंत्री राजनाथ सिंह करेंगे। इस बैठक में राजस्थान के साथ ही जम्मू-कश्मीर, पंजाब और गुजरात के मुख्यमंत्री और प्रदेशों के गृह मंत्रियों के शामिल होने के आसार हैं। गृह मंत्री बार्डर स्टेटस बैठक में हिस्सा लेंगे। वे शुक्रवार रात को जैसलमेर में रहेंगे और अगले दिन मुनाबाव पहुंचेंगे। सिंह वहां सीमा चौकियों का निरीक्षण करते हुए जवानों से भी बातचीत करेंगे। मुख्यमंत्री शुक्रवार को गृह मंत्री के साथ रहेंगी।
भारत-पाक रिश्तों में आए तनाव के बाद सेना प्रमुख दलबीर सिंह सुहाग भी इस इलाके का दौरा कर सकते हैं। सेना प्रमुख ने बुधवार शाम यहां जयपुर में दक्षिणी पश्चिमी कमान में सेना अधिकारियों के साथ बैठक की थी। देश के चार राज्यों की सीमा पाकिस्तान से सटी है। इसमें राजस्थान की सबसे ज्यादा सीमा पाक से लगी हुई है। सेना और बीएसएफ के लिए राजस्थान की सीमा सामरिक लिहाज से खासी अहम है। इस पूरी सीमा में थार रेगिस्तान है। इसमें कई जगह तो सीमा पर तारबंदी भी है और कुछ खुली भी है। सीमा पर दोनों तरफ गावं बसे हैं और आबादी छितराई हुई है। राजस्थान के सीमाई गावों को अभी खाली नहीं कराया गया है। इस इलाके में तैनात सभी सरकारी कर्मचारियों और शिक्षकों की छुट्टियां रद्द कर उन्हें नागरिकों के संपर्क में रहने को कहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 7, 2016 3:20 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग