ताज़ा खबर
 

अखिलेश यादव बोले – मंदिर जाऊं तो पहले फोटो ट्वीट कर दूं, अब तो ऐसा है

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव ने ईवीएम का मामला उठाते हुए चुनाव आयोग को घेरा।
समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव।

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव ने ईवीएम का मामला उठाते हुए चुनाव आयोग को घेरा। शनिवार (15 अप्रैल) को अखिलेश यादव ने कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी पर चुनाव आयोग को जवाब देना चाहिए। साथ ही अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि आने वाले वक्त में चुनाव बैलेट पेपर पर होना चाहिए। अखिलेश ने कहा, “चुनाव आयोग राजनीतिक दलों को चुनौती क्यों दे रहा है कि वे यह साबित करें कि ईवीएम के साथ छेडछाड़ की जा सकती? आयोग को स्वयं आगे आकर ईवीएम में होने वाली खामियों की जानकारी देनी चाहिए।”पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी पूछा कि आखिर इन मशीनों का सॉफ्टवेयर तैयार करने वाले विशेषज्ञ कौन हैं?

उप्र की योगी आदित्यानाथ सरकार पर चुटकी लेते हुए अखिलेश ने कहा, “नई सरकार यह कह रही है कि उप्र में जिला मुख्यालयों को 24 घंटे, तहसील स्तर पर 20 घंटे और ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली पहुंचाई जाएगी। लेकिन यह आदेश तो मैंने पिछली दीवाली पर ही बतौर मुख्यमंत्री दे दिया था।”

इसके साथ ही बीजेपी पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा, ‘बीजेपी वाले तो ऐसे हैं कि हमें हिंदू ही नहीं समझते, अब तो ऐसा है कि मंदिर जाऊं तो पहले फोटो ट्वीट कर दूं।’

उप्र में बंद हो रहे बूचड़खानों पर सवाल उठाते हुए अखिलेश ने बूचड़खानों पर कार्रवाई सिर्फ उप्र में ही क्यों हो रही है? क्या महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश में बूचड़खाने नहीं चल रहे हैं? क्या उप्र में ही सब उल्टा हो रहा है?

अखिलेश ने यह भी कहा कि आने वाले वक्त में जो भी गठबंधन होगा उसमें समाजवादी पार्टी अहम भूमिका निभाएगी। अखिलेश यादव ने एंटी रोमियो स्कवैड का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि रोमियो के नाम पर स्कवैड बनाकर रोमिया को बदनाम किया गया। स्कैवड के काम करने के तरीके पर भी अखिलेश यादव ने सवाल उठाए गए। उन्होंने कहा कि स्कवैड के लोग किसी के भी घर में घुस रहे हैं।

इस मामले पर यूपी के केंद्रीय मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बीजेपी की तरफ से पटलवार करते हुए कहा, ‘बुआ जी और बुआजी का भतीजा अपनी हार का ठीकरा EVM पर फोड़ना चाहते हैं।

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.