April 30, 2017

ताज़ा खबर

 

तीन बांग्लादेशी मरीजों के लिए देवदूत बना एयर इंडिया, मुफ्त हवाई टिकट दिये

एयर इंडिया ने एक मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए रविवार को गंभीर बीमारी से पीड़ित तीन बांग्लादेशी मरीजों और उनकी देखभाल करने वालों को यहां से मुम्बई और वहां से वापसी के टिकट दिये।

Author कोलकाता | April 3, 2017 04:09 am
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर (Source: Agencies)

एयर इंडिया ने एक मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए रविवार को गंभीर बीमारी से पीड़ित तीन बांग्लादेशी मरीजों और उनकी देखभाल करने वालों को यहां से मुम्बई और वहां से वापसी के टिकट दिये। एयर इंडिया की ओर से यह कदम एयर इंडिया और उसके सीएमडी अश्विनी लोहानी को मुम्बई स्थित न्यूरोसर्जन आलोक शर्मा की ओर से अपील किये जाने के बाद आया। शर्मा ने मांसपेशियों के एक तरह के विकार से पीड़ित अब्दुस (24), रहिनुल (14) और शोराब (08) के इलाज की पेशकश की थी। तीनों अपने जन्म से ही मांसपेशियों की एक दुर्लभ बीमारी से पीड़ित हैं। यह आनुवंशिक विकार है जिसके चलते इससे पीड़ित व्यक्ति 30 वर्ष की आयु के बाद बहुत कम ही जीवित रह पाते हैं। बांग्लादेश के मेहरपुर निवासी एक फल विक्रेता तोफज्जल हुसैन ने अपने पुत्रों अब्दुस और रहिनुल और पौत्र शोराब को अपनी सरकार से इच्छा मृत्यु देने की मांग की थी क्योंकि वह उनके इलाज का खर्च नहीं उठा सकता। एयर इंडिया ने एक बयान में कहा, ‘‘तीनों मरीज और उनके देखभाल करने वाले तीन व्यक्ति आज शाम एयर इंडिया की कोलकाता से मुम्बई की उड़ान में सवार हुए और वे इलाज के बाद एयर इंडिया की एक उड़ान से वापस भी लौटेंगे। इस उड़ान टिकट के लिए उन्हें किसी तरह का भुगतान नहीं करना होगा।’ शर्मा ने इसके लिए एयर इंडिया को धन्यवाद दिया।

जबकि इससे पहले एयर इंडिया के एक कर्मचारी के साथ मारपीट करने के चलते घरेलू विमानन सेवाओं द्वारा प्रतिबंधित और पुलिस द्वारा नामजद किए गए शिवसेना के सांसद रवींद्र गायकवाड़ ने दूसरे नामों का इस्तेमाल करते हुए राष्ट्रीय विमानसेवा में कम से कम तीन बार सीट बुक करवाने का प्रयास किया था। हालांकि तीनों बार उनके प्रयास विफल ही साबित हुए। विमानन कंपनी के एक सूत्र ने बताया कि इस सप्ताह की शुरूआत में शिवसेना के नेता के एक कर्मी ने एयरइंडिया के कॉलसेंटर में फोन करके बुधवार को मुंबई से दिल्ली आने वाले विमान (एआई 806) में सीट बुक कराने की कोशिश की। कर्मी ने यात्री का नाम रवींद्र गायकवाड़ बताया। टिकट तत्काल ही निरस्त हो गई।

इसके बाद हैदराबाद से दिल्ली आने वाले विमान (एआई 551) में एक सीट बुक कराई गई। यह सीट प्रोफेसर वी रवींद्र गायकवाड़ के नाम से बुक कराई गई। यह टिकट भी रद्द हो गई। तीसरी प्रयास अगले दिन किया गया। इस बार नागपुर से मुंबई के रास्ते दिल्ली जाने वाले विमान में टिकट करवाने की कोशिश की गई। सांसद के कर्मी ने ‘‘प्रोफेसर रवींद्र गायकवाड़’’ के लिए टिकट बुक करवाने के लिए एक ट्रैवल एजेंट से संपर्क किया।सूत्र ने कहा कि ट्रैवल एजेंट ने तत्काल स्थानीय स्टेशन प्रबंधक से संपर्क किया और सूचना एयर इंडिया के मुख्यालय को भेज दी गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 3, 2017 4:09 am

  1. No Comments.

सबरंग