ताज़ा खबर
 

चक्रवात के बाद चेन्नई में तबाही का मंजर, शुरू हुई विमान सेवा

चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ के चेन्नई से गुजरने के एक दिन बाद शहर में तबाही का मंजर है, हजारों पेड़ उखड़ चुके हैं, बिलबोर्ड जमीनदोज हो चुके हैं, टेलीफोन और बिजली के तार भी टूट गए हैं जबकि निचले इलाकों अभी जलमग्न हैं।
Author चेन्नई | December 14, 2016 19:57 pm
चेन्नई शहर में हालात सामान्य हो रहे हैं और विमान सेवा आज सुबह शुरू कर दी गई।

चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ के चेन्नई से गुजरने के एक दिन बाद शहर में तबाही का मंजर है, हजारों पेड़ उखड़ चुके हैं, बिलबोर्ड जमीनदोज हो चुके हैं, टेलीफोन और बिजली के तार भी टूट गए हैं जबकि निचले इलाकों अभी जलमग्न हैं। शहर में हालात सामान्य हो रहे हैं और विमान सेवा आज सुबह शुरू कर दी गई। बीते दो दशक में तमिलनाडु की राजधानी में आए सबसे शक्तिशाली तूफान के कारण चार लोगों की मौत हो गई, संचार साधन ठप पड़ गए, घर ढह गए और रेल, सड़क तथा वायु यातायात अस्तव्यस्त हो गया। आज सुबह से बारिश बंद है, लोग सड़कों पर उतर आए हैं और चाय के ठेलों पर भीड़ देखी जा सकती है।

बस स्टॉप और रेलवे स्टेशन पर भी लोग इंतजार करते दिखे, यहां कुछ सेवाएं बहाल हो चुकी है। दक्षिण रेलवे ने बताया कि एमएससी, सुलुरपत्ता:अरक्कूनाम खंड में सेवाएं आंशिक रूप से बहाल की गई है जबकि व्यस्त तांबाराम-चेंगालपत्तू मार्ग पर सेवाएं अभी शुरू नहीं की गई।

चेन्नई हवाईअड्डे पर निलंबित की गई उड़ान सेवाओं को बहाल कर दिया गया है। नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू ने ट्वीट किया, ‘‘चेन्नई हवाईअड्डे पर आज सुबह उड़ान सेवा बहाल कर दी गई।’ कल तेज हवाओं और बारिश के कारण कई उड़ानों को या तो रद्द कर दिया गया था या फिर उनका मार्ग बदल दिया गया था। कई इलाकों में बिजली की तारों पर पेड़ गिर जाने के कारण बिजली गुल हो गई थी जिसे अभी तक शुरू नहीं किया जा सका है। निचले इलाकों से हजारों लोगों को सुरक्षित निकाला गया है।

पिछले दो दशकों में तमिलनाडु की राजधानी को सबसे ज्यादा प्रभावित करने वाले चक्रवाती तूफान ‘वरदा’ के कारण सोमवार (12 दिसंबर) को चार लोगों की जान चली गयी, घर तबाह हो गये, टेलीफोन लाइनें टूट गयीं और रेल, सड़क तथा वायु यातायात अवरुद्ध हो गया। चेन्नई, तिरुवल्लुर और कांचीपुरम में भारी बारिश और तेज हवाओं का जोर रहा। सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बह रहीं हवाओं से बड़ी संख्या में पेड़ गिर गये, होर्डिंग उड़ गये और कारें भी पलट गयीं। निचले इलाकों में रहने वाले हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।
आंध्र प्रदेश में काकिनाडा में दो मछुआरे समुद्र तट के पास से लापता हो गये। तटरक्षक ने उनकी तलाश और बचाव के लिए जहाज को तैनात किया है। आंध्र प्रदेश से अभी तक संपत्ति के बड़े नुकसान की कोई खबर नहीं है लेकिन चित्तूर और एसपीएस नेल्लोर जिले में भारी बारिश ने सामान्य जनजीवन पर बुरा असर डाला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग