December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

रिश्वत देने के लिए शुरु हुआ 2000 रुपये के नए नोटों का इस्तेमाल, एसीबी ने रंगे हाथ दबोचा

महाराष्ट्र में जिला परिषद के एक सीनियर असिस्टेंट को कथित भ्रष्टाचार के मामले में एसीबी ने गिरफ्तार किया है। अधिकारियों के मुताबिक 35 हजार रुपये की रिश्वत में नए 2000 रुपये के नोट भी थे।

चित्र का इस्‍तेमाल केवल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।

महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिला परिषद के एक विरष्ठ सहायक को कथित भ्रष्टाचार के मामले में एसीबी ने गिरफ्तार किया है। बीते शनिवार को अधिकारी को 35 हजार रुपये की रिश्वत लेने के कथित आरोप में गिरफ्तार किया गया है। चंद्रकांत सावर्देकर जिला परिषद में सीनियर असिस्टेंट के पद पर था। शनिवार को उनको एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) के अफसरों ने गिरफ्तार किया।

एसीबी के मुताबिक उन्होंने चंद्रकांत को जिला परिषद के एक स्कूल अध्यापक से रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। अधिकारियों के मुताबिक अध्यापक ने शिकायत की थी कि चंद्रकांत स्कूल में उसके प्रिन्सिपल के पद पर होने वाले प्रमोशन को रोके हुए था और उसका प्रमोशन करने के लिए रिश्वत मांग रहा था।

अधिकारियों ने यह जानकारी भी दी कि चंद्रकांत ने पहले तो शिकायतकर्ता से 40 हजार रुपये कि मांग की थी जो कि बाद में 35 हजार रुपये पर तय की गई। इसके अलावा अफसरों ने यह जानकारी भी दी कि दिए गए रिश्वत के पैसों में 17 नए 2000 रुपये के नोट भी थे। मामले की शिकायत मिलने के बाद एसीबी अधिकारियों ने चंद्रकांत को पकड़ने के लिए जाल बिछाया और उसे रंगे हाथों दबोच लिया।

वीडियो: CBI की विशेष अदालत ने येदियुरप्पा को दी क्लिन चिट; 40 करोड़ की रिश्वत लेने का था आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 13, 2016 12:45 pm

सबरंग