December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

भाजपा के इशारे पर लोगों को लूट रहे पार्किंग माफिया

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि दिल्ली के नगर निगमों में बैठे भाजपा के नेताओं के इशारे पर पार्किंग माफिया जनता को लूट रहे हैं।

आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि दिल्ली के नगर निगमों में बैठे भाजपा के नेताओं के इशारे पर पार्किंग माफिया जनता को लूट रहे हैं। आप ने पूछा कि दिल्ली के लोग यह जानना चाहते हैं कि अवैध तरीके से पार्किंग शुल्क के नाम पर उनसे जबरन वसूल किया जा रहा यह पैसा कहां और किसकी जेब में जा रहा है? भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम को दुनिया की भ्रष्टतम संस्था बनने की दौड़ में अव्वल करार देते हुए लक्ष्मी नगर से आप विधायक नितिन त्यागी ने कहा कि पार्किंग माफियाओं ने दिल्ली की सड़कों पर पार्किंग शुल्क के नाम पर लूट मचा रखी है और इस लूट में सामूहिक रूप से एमसीडी में बैठे भाजपा और कांग्रेस के नेता भी शामिल हैं। स्कूटर-बाइक की पार्किंग के लिए जहां 5 से 7 रुपए का शुल्क निर्धारित है, वहां माफिया 10 से 12 रुपए वसूल रहे हैं और कार के लिए जहां 10 रुपए प्रति 10 घंटे का शुल्क तय है, वहां 20 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से वसूली की जा रही है। साथ ही मासिक पास के लिए 2500 से 3000 रुपए तक की अवैध वसूली की जाती है जबकि इसके लिए अधिकृत राशि कहीं सिर्फ 500 तो कहीं 1000 रुपए तक ही है।


नितिन त्यागी ने कहा कि इन पार्किंग माफियाओं ने तय क्षेत्र से ज्यादा इलाके पर कब्जा कर रखा है जहां ये अपने अधिकार क्षेत्र से आगे बढ़ कर सभी सर्विस लेन को भी अपने कब्जे में ले लेते हैं और जनता से पार्किंग शुल्क के नाम पर अवैध वसूली करते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों को अपनी ही कालोनी के बाजार में गाड़ी या बाइक खड़ी करने के लिए बेहिसाब पार्किंग शुल्क देना पड़ता है जिसकी वजह से लोगों को दुकान से चीनी-चावल लेने जाने के बारे में भी कई बार सोचना पड़ता है। पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता रिचा पांडे मिश्रा ने सवाल किया, ‘जब भाजपा के नेताओं और इन पार्किंग माफियाओं ने पूरी दिल्ली को पार्किंग लॉट बना रखा है, जहां थोड़ी सी जगह भी पैदल चलने वालों के लिए नहीं छोड़ी है और इतना ही नहीं पार्किंग शुल्क के तौर पर अधिकृत राशि से तीन से चार गुना वसूली कर रहे हैं तो फिर ये पैसा कहां इस्तेमाल किया जा रहा है?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 19, 2016 2:09 am

सबरंग