ताज़ा खबर
 

कश्मीरः व्यावसायिक इमारतों और 4 घरों में लगी आग, फायर ब्रिगेड आने से पहले ही जलकर हुए खाक

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में दो व्यावसायिक इमारतें और चार आवासीय घर जलकर खाक हो गए।
जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में दो व्यावसायिक इमारतें और चार आवासीय घर जलकर खाक हो गए।

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में दो व्यावसायिक इमारतें और चार आवासीय घर जलकर खाक हो गए। दमकल एवं आपात सेवाओं के एक अधिकारी ने बताया कि कुपवाड़ा जिले के अवुरा में कल रात इनमें से एक व्यावसायिक इमारत में आग लग गई थी। आग निकटवर्ती इमारतों में भी फैल गई। इससे चार घर तबाह हो गए। उन्होंने बताया कि दमकल की गोड़ियों को आग पर काबू पाने के लिए मौक पर भेजा गया ।
दमकल कर्मियों को आग पर काबू पाने में कई घंटे लगे और तब तक कम से कम 24 इमारतें आग की चपेट में आ गई।  उन्होंने बताया कि घटना में बैंक की एक शाखा भी आग की चपेट में आ गई। आग लगने के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। उन्होंने बताया कि किसी के हताहत होने की भी कोई खबर नहीं है।

इससे पहले ही सोमवार को पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए कश्मीर के बारामुला जिले में स्थित उप-कारागार से 14 मोबाइल फोन जब्त किए हैं, जिनका प्रयोग बंदियों द्वारा कथित रूप से व्हाट्सऐप के जरिए पाकिस्तान से संपर्क रखने में किया जाता था। जिन कैदियों से यह मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं उनमें उग्रवाद और पथराव के आरोप में जेल में बंद लोग भी शामिल हैं। गौरतलब है कि केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने तीन दिन पहले ही कहा था कि पाकिस्तान कश्मीर में अशांति फैलाने के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग कर रहा है। बारामुला के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इम्तियाज हुसैन ने कहा, ‘‘कारागार अधिकारियों को संदेह था कि जेल परिसर में कुछ कैदी मोबाइल फोन का प्रयोग कर रहे हैं। उन्होंने इसकी सूचना हमें दी। जेल और पुलिस अधिकारियों के संयुक्त अभियान में 14 मोबाइल फोन और कुछ अन्य सामग्री मिली है।’

उन्होंने कहा, ‘‘यहां कुछ उग्रवादी भी बंद हैं और हमने उनके पास से भी मोबाइल फोन बरामद किए हैं। वे लोग व्हाट्सऐप का प्रयोग कर रहे थे और हम देख सकते हैं कि वे कुछ पाकिस्तानी नंबरों के संपर्क में भी थे… ऐसे में हम पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि यह बरामदगी उन बंदियों से हुई है जो पथराव और उग्रवाद के आरोप में बंद हैं। बरामद किए गए मोबाइल फोन को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जा रहा है, ताकि पता चल सके कि उनका प्रयोग क्यों किया जा रहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग