ताज़ा खबर
 

फोन पर पोर्न देखकर किया 7 साल की बच्‍ची का रेप, जिंदा जलाने के बाद हाइवे किनारे फेंकी लाश

इस क्रूर हरकत के बाद चेन्नई में होर्डिंग लगाकर बच्ची के लिए न्याय की मांग की गई है।
प्रतिकात्मक तस्वीर।

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में सात साल की बच्ची के यौन शोषण का एक मामला सामने आया है। सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाले धष्यंत नाम के एक पड़ोसी ने तीसरी कक्षा में पढ़ने वाली बच्ची के साथ रेप करने के बाद उसे जिंदा जला दिया और लाश बैग के ड़ालकर हाईवे पर फेंक दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि बच्ची चिल्ला ना सके इसके लिए आरोपी ने बच्ची के मुंह में कपड़ा ठूंस दिया। पुलिस ने आरोपी के फोन से कई अश्लील फिल्में भी मिली हैं।

इस क्रूर हरकत के बाद चेन्नई में होर्डिंग लगाकर बच्ची के लिए न्याय की मांग की गई है। इस क्रूर हरकत से शहर के लोगों में भारी गुस्सा देखने को मिल रहा है। कई लोगों ने आरोपी को फांसी पर लटकाने की मांग की है। कई सामाजिक संगठनों ने भी आरोपी के खिलाफ कड़ी कारवाई की मांग की है।

बच्ची के माता-पिता ने बताया कि वो रविवार की शाम को बाहर गए थे, उस समय बच्ची पार्क में खेल रही थी। लेकिन जब वो लौटे तो वो घर पर नहीं मिली। काफी ढूंढने के बाद जब बच्ची नहीं मिली तो पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। पुलिस ने अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों से पूछताछ की। पूछताछ में पुलिस को एक सॉफ्टवेयर कंपनी में काम करने वाले 32 साल के धष्यंत पर शक हुआ। सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपी ने बताया कि उसने बच्ची को एक पपी का लालच देकर बुलाया। घर आने के बाद उसने बच्ची के साथ बलात्कार करने की कोशिश की। जब वह चीखी तो आरोपी ने बच्ची का मुंह बंद करने के लिए कपड़ा ठूंस दिया। इस मामले को यहीं खत्म करने के लिए उसने बच्ची को जिंदा जला दिया और फिर लाश को ट्रैवल बैग में डालकर राजमार्ग के पास फेंक दिया।

वहीं इस मामले पर राजनीति भी शुरु हो गई है। विपक्षी पार्टियों ने आरोप लगाया है कि प्रशासन समझ नहीं पा रहा कि वो किसे रिपोर्ट करे। मुख्यमंत्री या सत्ताधारी पार्टी को। इसकी वजह से आम आदमी को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

बुलंदशहर गैंगरेप पर उमा भारती बोलीं- “मेरे शासन में होता तो बलात्कारियों की चमड़ी उतरवा देती”

गुड़गांव: टैंक में पड़ा मिला 10 साल की बच्ची का शव, डॉक्टर ने कहा- रेप हुआ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.