ताज़ा खबर
 

60 साल के बुजुर्ग ने कार में किया पत्नी का क़त्ल, गले, छाती और आंख पर चाक़ू से किए नौ वार

60 वर्षीय मुकेश मोंगा को अपनी पत्नी पर बेवफाई का शक था। उसकी पत्नी दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर रह चुकी थी।
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दक्षिण दिल्ली के आनंद निकेतन में बुधवार (26 अक्टूबर) को एक 60 वर्षीय व्यक्ति ने अपनी पत्नी की चाकू मारकर हत्या कर दी। व्यक्ति की पत्नी दिल्ली महिला आयोग की काउंसलर रह चुकी थी। मुकेश मोंगा नामक व्यक्ति ने चाकू से अपनी पत्नी के गले, छाती और आंखों पर वार किया। मोंगा की पत्नी एक बूटिक में काम करती थी। बुटिक के बाहर ही कार में मोंगा ने अपनी पत्नी पर हमला कर दिया। बूटिक के सुरक्षा गार्ड ने पत्थर मारकर उसे रोकना चाहा लेकिन मोंगा कार लेकर मौके से फरार हो गया। सुरक्षा गार्ड ने तुरंत घटना की पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने मोंगा का पीछा करके उसे गिरफ्तार कर लिया। उसकी पत्नी मंजू को एम्स ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मोंगा ने पुलिस को बताया कि उसे अपनी पत्नी पर बेवफाई का शक़ था। उसका आरोप था कि उसकी पत्नी को उसके ग्राहक और पहले जिस एनजीओ में वो काम करती थी से फोन आते थे। मोंगा के अनुसार उसकी पत्नी ने पैसे को लेकर भी उससे झगड़ा किया था। मोंगा के अनुसार उसने अपनी पत्नी से उधार लिए पैसे खर्च कर दिए थे। दक्षिणी दिल्ली की डीसीपी नुपुर प्रसाद के अनुसार पुलिस को लगता है कि मोंगा ने योजना बनाकर इस हत्या को अंजाम दिया है। मंजू के गले, छाती और आंख पर चाक़ू से नौ से अधिक वार किए गए थे।

वीडियो: देखें पिछले 24 घंटे की पांच बड़ी खबरें-

घटना के दिन मोंगा अपनी पत्नी को कार से उसके बूटिक छोड़ने जा रहा था। बूटिक के सुरक्षा गार्ड राज कुमार के अनुसार कार में मोंगा और उसकी पत्नी के बीच बहस होने लगी। जब मंजू को कार से बाहर आने में रोजमर्रा से ज्यादा समय लगा तो कुमार मुआयने के लिए कार के पास गया। कुमार ने टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार को बताया, “मैं कार के पीछे था तभी मोंगा मंजू को पीटने लगा। उसने उनके बाल पकड़ रखे थे।”

राज कुमार ने मोंगा को रोकने की कोशिश की लेकिन उसने गाड़ी को आगे बढ़ा दी। आगे जाकर उसने गाड़ी रोकी और सीट के नीचे से चाक़ू निकालकर मंजू पर हमला कर दिया। मंजू मदद की गुहार लगाती रही और अंत में बेहोश हो गई। राज कुमार ने पास में पड़ा हुआ पत्थर उठाकर मोंगा को मारा तो वो कार के बोनट पर गिरा। मोंगा ने खून में लथपथ मंजू को कार में लेकर वहां से फरार हो गया। राज कुमार चिल्लाते हुए कार के पीछे भागा। वहां से गुजर रही पुलिस पेट्रोल कार की नजर उस पर पड़ी तो उसने मोंगा का पीछा किया और उसे पकड़ लिया। मोंगा ने पुलिस के गिरफ्त से भागने की नाकाम कोशिश की। उसने हमले में इस्तेमाल किए गए चाकू को भी सीट के नीचे छिपाने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उसे बरामद कर लिया। पुलिस के अनुसार मोंगा ने बहुत ज्यादा शराब पी रखी थी।

Read Also: घरेलू कलह से तंग आकर मां ने की बच्चे की हत्या, फिर की खुदकुशी की कोशिश

मुकेश मोंगा की बेटी के अनुसार वो अपनी पत्नी के संग अक्सर मारपीट करता था। मोंगा के बेटे के अनुसार पोस्ट ऑफिस की नौकरी छूटने के बाद उसके पिता पहले से ज्यादा शराब पीने लगे थे। मुकेश की बेटी वर्तिका के अनुसार मोंगा ने घटना की सुबह ही शराब पी ली थी। आम तौर पर वो सुबह शराब नहीं पीता था। मुकेश के बेटी और बेटे ने बताया कि वो शराब के लिए अपनी पत्नी से अक्सर उधार मांगा करता था। दोनों के बीच इन पैसों को लेकर भी काफी झगड़ा होता था।

Read Also: गुड़गांव में मेट्रो स्टेशन पर दिनदहाड़े चाकू मारकर पूर्वोत्तर की 22 वर्षीय युवती की हत्या

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग