ताज़ा खबर
 

सूरजकुंड मेले की चौपाल पर मिला संस्कृति का मिला-जुला संगम

30वें सूरजकुंड हस्तशिल्प मेला हाथ की कारीगरी और संस्कृति का मिला-जुला संगम है। मेले की चौपाल पर दिन भर थीम स्टेट तेलंगाना, प्रमुख सहयोगी देश चीन और जापान के साथ मेजबान हरियाणा के कलाकारों की ओर से रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए जा रहे हैं।
Author फरीदाबाद/चंडीगढ़ | February 5, 2016 01:57 am

30वें सूरजकुंड हस्तशिल्प मेला हाथ की कारीगरी और संस्कृति का मिला-जुला संगम है। मेले की चौपाल पर दिन भर थीम स्टेट तेलंगाना, प्रमुख सहयोगी देश चीन और जापान के साथ मेजबान हरियाणा के कलाकारों की ओर से रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए जा रहे हैं।
मेले की चौपाल पर फरीदाबाद जिला भी इन प्रस्तुतियों में पीछे नहीं है।

स्थानीय डीएवी शताब्दी कालेज के छात्र-छात्राओं ने भी प्रदेश की संस्कृति को बखूबी पेश करते हुए अपने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इसी कड़ी में उक्त सहयोगी देशों के कलाकारों ने अपनी सांस्कृतिक गतिविधियों से जुड़े पारंपरिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन करके यह जता दिया कि गीत-संगीत की कोई भाषा नहीं होती और यह सभी देशों के दशर्कों व श्रोताओं के लिए एक समान रूप से महत्त्वपूर्ण और लोकप्रिय होते हैं।

इसी प्रकार थीम स्टेट तेलंगाना के कलाकारों ने वहां की आदिवासी और भोली-भाली परंपरा से युक्त सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन करके पेश किया कि राज्य नया जरूर है लेकिन उनकी सांस्कृतिक विरासत पिछले काफी वर्षों से चली आ रही है।

इन सभी कार्यक्रमों का पर्यटन सहित अनेक संंबंधित विभागोंं के अधिकारियों व कमर्चारियों के अलावा देश के कोने-कोने से आए अनेक स्टालधारकों तथा पर्यटकों ने भरपूर आनंद लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग