ताज़ा खबर
 

ब‍िहार: 10 फीट गहरा कर बुलडोजर से बोतलें तोड़ बहाई जा रही सौ करोड़ की शराब

बिहार में जिनके पास शराब के स्टॉक हैं वे इसे नष्ट करने में लगे हुए हैं। हाल ही सीवान जिले के गोपालपुर में 100 करोड़ की शराब की पेटियों को नष्ट किया जा रहा है।
Author बिहार/ नई दिल्ली | August 30, 2017 12:05 pm
(Youtube)

बिहार में नीतीश कुमार की सरकार ने शराब पर बैन लगाया है। लिहाजा अब जिनके पास शराब के स्टॉक हैं वे इसे नष्ट करने में लगे हुए हैं। हाल ही सीवान जिले के गोपालपुर में 100 करोड़ की शराब की पेटियों को नष्ट किया जा रहा है। पेटियों में भरी शराब की बोतलों को बुलडोजर से नष्ट किया जा रहा है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अपना फैसला सुनाते हुए शराब की कंपनियों के पुराने स्टॉक को बाहर ले जाने के लिए कोई मोहलत नहीं दी।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से 31 जुलाई तक शराब को राज्य से बाहर करने का आदेश दिया था। अब बिहार बॉटलर्स ब्लेंडर्स प्राइवेट लिमिटेड गोपालपुर के पास इन शराब की पेटियों को नष्ट करने के आलावाऔर  कोई दूसरा उपाय नहीं है। बताया जा रहा है कि बुलडोजर से शराब की पेटियों को नष्ट किए जाने की प्रक्रिया इसी तरह से 10 दिनों तक चलेगी। इन शराब की पेटियों को बुलडोजर से नष्ट कर 10 फुट गहरे गड्ढों में बहाया जा रहा है।

बिहार में शराबबंदी के बड़े फैसले की कई लोगों ने तारीफ की तो कई इस फैसले के विरोध में भी नजर आए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अब शराबबंदी को पूरे देश में लागू कराने की मांग कर रहे हैं। बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बिहार में पूर्ण शराबबंदी के एक साल के भीतर 5,14,639 लीटर विदेशी शराब (अंग्रेजी), 3,10,292 लीटर देसी शराब और 11,371 लीटर बीयर जब्त की गई। इस दौरान बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद कानून 2016 का उल्लंघन करने के आरोप में कुल 44,594 लोग गिरफ्तार किए गए।

आपको बता दें कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी अभियान को सफल बनाने के लिए पुलिस और मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग द्वारा 2,16,595 छापेमारी की गई और 40,078 मामले दर्ज किए गए। मद्य निषेध एवं उत्पाद विभाग के अनुसार, इस वित्तीय वर्ष के दौरान एक और दो अप्रैल को राज्य में अवैध शराब के खिलाफ 2,127 छापेमारी की और मद्य निषेध एवं उत्पाद कानून 2016 का उल्लंघन करने वाले 439 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जिसके बाद इस मामले में अब तक गिरफ्तार किए गए लोगों का आंकड़ा 45 हजार से अधिक हो चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग