ताज़ा खबर
 

राजपाट- हिंदुस्तान से प्यार करेगा, वह भाजपा को वोट देगा और जो पाकिस्तानी होगा उसका नहीं मालूम

उठाओ दोनों हाथ सब संकल्प लो कि हम भाजपा को जिताएंगे। नगर परिषद में भाजपा का कब्जा कराएंगे। सूबे के पूर्व महाधिवक्ता आनंद मोहन माथुर ने तो सारंग की टिप्पणी को संविधान का अपमान बता दिया। बात है भी वाजिब।
Author May 15, 2017 04:56 am
मध्य प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग की फाईल फोटो।( Source: ANI)

अंतरकलह

हरियाणा कांग्रेस में गुटबाजी थमने के बजाए और तेज हो रही है। अब एक और नए गुट के आगाज की चर्चा है। पूर्व मुख्यमंत्री भजन लाल के बेटे कुलदीप विश्नोई ने दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाकात की तो चंड़ीगढ़ में भूपिंदर सिंह हुड्डा और अशोक तंवर दोनों के कान खड़े हो गए। दलित वर्ग के तंवर इस समय पार्टी के सूबेदार ठहरे। हुड्डा के धुर विरोधी माने जाते हैं। यों कुलदीप ने अपनी हरियाणा जनहित कांग्रेस का कांग्रेस में विलय तीन साल पहले कर लिया था। हुड्डा को भनक तक नहीं लग पाई विश्नोई की सोनिया से मुलाकात के कार्यक्रम की। पार्टी के प्रभारी पहले शकील अहमद थे। अब कमलनाथ हैं। पर गुटबाजी पर अंकुश कोई नहीं लगा पाया। हुड्डा गुट अशोक तंवर और विधायक दल की नेता किरण चौधरी को कमजोर करने की मुहिम चला रहा है। सियासी हलकों में तो अब कुलदीप विश्नोई के ही पार्टी सूबेदार बन जाने की अटकलें तेज हो गईं।
हया न मर्यादा

मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री हैं विश्वास सारंग। पिछले दिनों झाबुआ जिले के एक कार्यक्रम में अतिउत्साह के कारण जुबान फिसल गई। अंत्योदय मेले के मंच से ही भाजपा को वोट देने का संकल्प मौजूद लोगों से कराया तो भला विपक्ष एतराज क्यों न करता। कार्यक्रम भाजपा का नहीं सरकार का था। यों सहकारिता राज्यमंत्री हैं सारंग पर झाबुआ के प्रभारी के नाते पहुंचे थे मेले में। चुनावी सभा समझ बैठे मेले को। फरमाया कि जो हिंदुस्तान से प्यार करेगा, वह भाजपा को वोट देगा और जो पाकिस्तानी होगा उसका नहीं मालूम। देखना कि आसपास कोई पाकिस्तानी नहीं बैठा। उठाओ दोनों हाथ सब संकल्प लो कि हम भाजपा को जिताएंगे। नगर परिषद में भाजपा का कब्जा कराएंगे। सूबे के पूर्व महाधिवक्ता आनंद मोहन माथुर ने तो सारंग की टिप्पणी को संविधान का अपमान बता दिया। बात है भी वाजिब।

क्या भाजपा को वोट नहीं देने वाला गद्दार कहलाएगा। देश के नामचीन शिक्षाविद् अनिल सद्गोपाल ने भी सारंग पर संविधान की शपथ तोड़ने का आरोप जड़ा है। इसे अपराध बता हर कोई सारंग के इस्तीफे की मांग कर रहा है। नर्मदा बचाओ आंदोलन की मेधा पाटकर भी चाहती हैं कि अपने निंदनीय बयान के लिए सारंग सार्वजनिक माफी मांगे। राष्ट्रवाद के नाम पर संविधान का मखौल उड़ाना किसे भा सकता है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर नीखरा ने भी सारंग के बचकाना बयान की निंदा की है। पाठकों को बता दें कि विश्वास सारंग अपने पिता की सियासी पूंजी की बदौलत बन बैठे हैं मंत्री। उनके पिता कैलाश सारंग थे जनसंघ के जमाने से पार्टी के कद्दावर नेता।

MCD चुनावों में मिली हार पर आप नेता बोले- "बीजेपी की जीत के पीछे ईवीएम गड़बड़ी इकलौता कारण"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 15, 2017 4:54 am

  1. No Comments.
सबरंग