ताज़ा खबर
 

राजपाट: बेरंगत हुई यात्रा, सियासत और धंधा

उत्तराखंड में भी नोटबंदी ने भाजपा की परिवर्तन रैलियों को बेरंगत कर दिया।
Author December 26, 2016 04:38 am
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह। (फाइल फोटो)

बेरंगत हुई यात्रा
उत्तराखंड में भी नोटबंदी ने भाजपा की परिवर्तन रैलियों को बेरंगत कर दिया। अल्मोड़ा में अमित शाह की रैली फीकी रही तो केवल नोटबंदी वजह नहीं थी। कोढ़ में खाज का काम पार्टी के नेताओं की गुटबाजी से हुआ। इसके उलट कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी की अल्मोड़ा में सफल रैली करा मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपना दबदबा बरकरार रखा। वैसे भी कुमाऊं मंडल में भाजपा को हरीश रावत ने पछाड़ रखा है। ऊपर से यहां राजपूतों की बहुतायत है और रावत खुद भी राजपूत ठहरे। राहुल गांधी ने अल्मोड़ा के नामी हलवाई मोहन सिंह की बाल मिठाई के बहाने कैशलेस पर कटाक्ष किया। भीड़ से पूछा कि क्या वे मोहन सिंह की बाल मिठाई अब पेटीएम से खाएंगे? रही भाजपा की बात तो कुमाऊं में उसके सबसे कद्दावर नेता भगत सिंह कोश्यारी रहे हैं। पर पार्टी आलाकमान ने उन्हें हाशिए पर धकेल रखा है। तभी तो अमित शाह की अल्मोड़ा रैली से उन्होंने किनारा कर रखा था।
सियासत और धंधा
केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा का अस्पताल का धंधा भाजपा के सत्ता में आने के बाद तेजी से चमका है। तभी तो देहरादून में भी खोल दिया है उन्होंने अपना कैलाश अस्पताल। कहने को इसका उद्घाटन एक निजी समारोह होने के चलते गैरराजनीतिक था। पर बन गया राजनीति का अखाड़ा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा पहुंचे थे उद्घाटन करने देहरादून। तमाम नेताओं ने ज्यादा वक्त कांग्रेसी मुख्यमंत्री हरीश रावत को कोसने में ही खपा दिया। अलबत्ता महेश शर्मा की तारीफ के पुल बांधना नहीं भूले अमित शाह। गढ़वाली होने के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री और हरिद्वार के सांसद रमेश पोखरियाल निशंक को कोई तवज्जो नहीं दी अमित शाह ने।

नशे में धुत्‍त बीजेपी विधायक ने बीच सड़क पर किया डांस, गोली भी चलाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.