June 24, 2017

ताज़ा खबर
 

राजनीति

बेबाक बोलः सत्ता का संदेश- जय किसान जवान

वित्तीय और आर्थिक संकट जब सामाजिक संघर्ष में बदल रहा हो तो ऐसे दौर में डिजिटल नायक की भूमिका पर इस बार का बेबाक...

राजनीतिः क्यों धैर्य खो रहे हैं किसान

किसान स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग कर रहे हैं, जिसका वादा भाजपा ने लोकसभा चुनाव में किया था।

चंपारण की विरासत के रखवाले

बीसवीं सदी के भारत के इतिहास में 1917 का अप्रैल खास महत्त्व रखता है क्योंकि इसी दौर में गांधी ने बिहार के चंपारण में...

शिक्षा तंत्र की कमजोर कड़ियां

आइआइटी की प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले कई छात्र बोर्ड परीक्षा में नाकाम हुए हैं, जो लोगों की हैरानी का सबब है। प

कारोबार बनाम आहार

कंपनियां झूठे व आकर्षक प्रचार के जरिए इन देशों के ‘लोकल’ खाद्य पदार्थों की जगह ‘ग्लोबल’ आहार को लोकप्रिय बनाने की मुहिम छेड़े...

सिर्फ नारों से नहीं बचेगी पृथ्वी

काफी समय से पेरिस जलवायु समझौते की आलोचना कर रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आखिरकार अमेरिका को इस समझौते से अलग कर लिया।...

राजनीतिः कितनी सुरक्षित हैं धार्मिक यात्राएं

धार्मिक यात्राओं के दौरान सड़क दुर्घटनाओं में तीर्थयात्रियों की मृत्यु के आंकड़े हर साल बढ़ते ही जा रहे हैं।

बेबाक बोलः रोजी बनाम राम- एकै साधे सब सधे

सरकार से लेकर अदालत तक में सच को परे रख भ्रमजाल बुनने के इस समय पर बेबाक बोल।

राजनीतिः परवरिश की बढ़ती मुश्किलें

आजकल बच्चे बात-बात पर गुस्सा हो जाते हैं। कभी बेवजह डर जाते हैं तो कभी घरवालों को डराते हैं। अभिभावक नहीं समझ पा...

जीका की चुनौती और स्वास्थ्य तंत्र

मच्छरों से फैलने वाले जानलेवा जीका वायरस से भारत महफूज नहीं है। इसे लेकर पिछले साल आशंका जताई गई थी।

तंबाकू से निजात दिलाने की चुनौती

विश्व भर में तंबाकू की बिक्री पर 2040 तक रोक नहीं लगी तो इस सदी में एक अरब लोग धूम्रपान और तंबाकू के उत्पादों...

गाद को बहने दो

प्रत्येक नदी में तीन तरह के कण होते हैं: सैंड, सेडिमेंटेशन और सिल्ट यानी रेत, गाद और तलछट।

शिक्षा अधिकार की उलटी चाल

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के आंकड़ों पर गौर करें तो देश भर के एक हजार से ज्यादा केंद्रीय स्कूलों में बारह लाख से अधिक...

राजनीतिः वाजिब हक बनाम खोखली चिंताएं

अकसर गरीबों और दलितों की चिंता में दुबले हुए जाते नेताओं की चिंताएं कितनी व्यर्थ हैं कि शहर भर का कूड़ा उठाने वाले और...

बेबाक बोलः धर्म कांटा- कश्मीर की कसक

गीता और गाय में उलझी सरकार जब कश्मीर में बरस रहे पत्थरों की भाषा नहीं समझ पाई तो बचाव के लिए सेना को अपना...

‘पिछली सरकारों ने नीतिगत गलती की, आपकी तो कोई नीति ही नहीं’

मोदी सरकार के तीन साल और देश के गृह मंत्री का दावा कि कश्मीर, कश्मीरी और कश्मीरियत हमारे हैं, हमारी सरकार कश्मीर समस्या का...

राजनीतिः महिला शिक्षा में रोड़े

बीते दिनों विभिन्न राज्यों के दसवीं के परिणाम आए। हमेशा की तरह बेटियों ने अपना परचम लहराया, और ऐसा पहली बार नहीं हुआ है।

तकनीकी शिक्षा और सिमटती नौकरियां

तकनीकी शिक्षा कहीं न कहीं साहित्य और भाषाई विषयों के शैक्षिक दर्शन की दृष्टि से अलग है। अगर विज्ञान और तकनीक को शिक्षा-दर्शन की...

सबरंग