June 24, 2017

ताज़ा खबर
 

ईडी को मोइन कुरैशी के करीबियों के यहां से मिले तीन करोड़ रुपए

छापामारी में भारतीय और विदेशी मुद्रा मिलाकर तीन करोड़ से अधिक की बरामदगी हुई।

Author नई दिल्ली | March 21, 2017 02:08 am
शेखर रेड्डी एक कॉन्ट्रेक्टर हैं और वे पब्लिक डिपार्टमेंट के कई कॉन्ट्रेक्ट लेते हैं। (तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मोइन कुरैशी धनशोधन मामले में तलाशी के दौरान तीन करोड़ से अधिक रुपए बरामद किए हैं। बरामद मुद्रा में विदेशी करेंसी भी शामिल है। ईडी ने यह कार्रवाई कुरैशी के साथ हवाला के जरिए कारोबार करने वाले उनके कुछ जानकारों के यहां की। इनके यहां हुई छापामारी में भारतीय और विदेशी मुद्रा मिलाकर तीन करोड़ से अधिक की बरामदगी हुई। कुरैशी के कुछ और जानकारों के यहां भी एजंसी जल्द ही ऐसी कार्रवाई की तैयारी में है। ईडी के अधिकारियों के मुताबिक यह कार्रवाई धर्मेंद्र सिंह आनंद और अन्य के खिलाफ की गई। जिनके यहां छापामारी की गई, उन सभी के खिलाफ कुरैशी के साथ हवाला से कारोबार करने के साक्ष्य पाए गए। बताया गया कि ईडी को अपनी जांच के दौरान नई दिल्ली, ग्रेटर कैलाश स्थित दामिनी ट्रैवल रिलेटेड सर्विसेस प्राईवेट लिमिटेड और दामिनी फोरेक्स लिमिटेड के बारे में जानकारी मिली थी। इस सिलसिले में यहां हुई छापामीरी में धर्मेंद्र सिंह आनंद के कार्यालय से भारतीय करेंसी में 6,43,380 रुपए, 52,66,055 भारतीय मूल्य की विदेशी मुद्रा और अन्य आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए। ऐसे ही धर्मेंद्र सिंह आनंद के आवास से 2,06,19,000 की भारतीय मुद्रा व  46,11,111 रुपए मूल्य की विदेशी मुद्रा बरामद हुई। यहां से कुछ आपत्तिजनक दस्तावेजों के साथ ही इलेक्ट्रानिक उपकरण भी जब्त किए गए। ईडी अफसरों ने बताया कि एजंसी ने इनके अलावा के भारत के जसवीर सिंह के यहां भी छापामारी की। जसवीर सिंह के यहां से 12,70,000 रुपए, कुछ आपत्तिजनक दस्तावेजों व इलेक्ट्रानिक उपकरण जब्त किए गए। छापेमारी के दौरान बरामद दस्तावेजों व इलेक्ट्रानिक उपकरणों की जांच शुरू कर दी गई है।

विवादों के लिए चर्चित दिल्ली के मांस निर्यातक मोईन कुरैशी को पूर्व में पुलिस भी हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। इसके आलावा ईडी ने भी उनसे पूछताछ की हुई है। मोईन कुरैशी और अन्य के खिलाफ चल रही धनशोधन जांच के सिलसिले में ईडी मोईन की पत्नी को पेशी के लिए सम्मन जारी कर पूछताछ के लिए बुला चुकी है। कुरैशी की पत्नी नसरीन को पांच दिसंबर को इस मामले की जांच के लिए अधिकारी के सामने पेश होने के लिए समन सौंपा गया। जांच एजंसी ने उनके खिलाफ लुक आउट सर्कुलर जारी करवाया था। जब वह कथित रूप से लंदन से यहां पहुंची तब उन्हें पकड़ कर पूछताछ की गई थी।मोईन कुरैशी का कथित तौर पर सहयोग करने पर सीबीआइ के पूर्व प्रमुख अमर प्रताप सिंह पर प्राथमिकी दर्ज हो चुकी है। यहां तक कि सीबीआइ ने अपने ही पूर्व प्रमुख के आवास पर छापेमारी भी की थी। सीबीआइ के सूत्रों ने बताया कि सिंह, कुरैशी, उनके कर्मचारी आदित्य शर्मा, ट्राईमैक्स कंपनी समूह के मालिक प्रदीप कोनेरू और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। एजंसी ने चार शहरों नई दिल्ली, गाजियाबाद, चेन्नई और हैदराबाद में छापेमारी की थी। नौकरशाहों का सहयोग लेने के लिए कुरैशी पर कई लोगों से धन हासिल करने का आरोप है। सीबीआइ ने देश की धनशोधन जांच एजेंसी प्रवर्तन निदेशालय की शिकायत पर कुरैशी मामले में प्राथमिकी दर्ज की थी।

 

 

पांच महीने बाद खत्म हुई मणिपुर में आर्थिक नाकाबंदी, समझौते को राजी नागा संगठन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on March 21, 2017 2:08 am

  1. No Comments.
सबरंग