June 29, 2017

ताज़ा खबर
 

राजनीति

बैंकों के विलय पर टिकी उम्मीद

चिह्नित किए गए छह छोटे बैंकों में यूनाइटेड बैंक आॅफ इंडिया, यूको बैंक, यूनियन बैंक इंडिया तथा बड़े बैंकों में पंजाब नेशनल बैंक, बैंक...

बिना जमीन का आसमान

भारतीय नीति-निर्माताओं ने रोजगार सृजन के लिए स्टार्ट-अप का रास्ता चुना है। स्टार्ट-अप उन उद्यमों को कहा जाता है जो पूरी तरह नए विचार...

दरवाजा बंद करो बीमारी बंद

मोदी जी ने हमें दो बडे ‘सामाजिक संबोधन’ दिए। एक: ‘सवा सौ करोड़ देशवासी’। दूसरा: ‘पैंसठ फीसदी आकांक्षी युवा’।

आपातकाल से मिली नसीहत

आपातकाल के दूसरे दिन सैकड़ों विपक्षी नेता व कार्यकर्ता गिरफ्तार हो चुके थे। तीस-पैंतीस सांसदों को जेल भेज दिया गया। आपातकाल का दौर आज...

राजनीतिः बोलियों की बिसात पर

हिंदी भारत की राष्ट्रीय पहचान की भाषा बन चुकी है और सूरीनाम, मॉरिशस, दक्षिण अफ्रीका आदि देशों में बसे भारतवंशी अपने बच्चों को गर्व...

जाति, लैंगिक, राजनीति और दलित मुक्ति का प्रश्न कोविंद बनाम कुमार

समाज और संस्थानों में भले ही दलितों का शोषण, भेदभाव और अत्याचार बदस्तूर जारी हो, लेकिन राजनीति में ‘दलित’ शब्द अब तक ब्रांड वैल्यू...

बेबाक बोलः पहचान के पत्ते- जाति और राजनीति

कोविंद और कुमार के इस टकराव ने राष्ट्रपति चुनाव को दिलचस्प तो बना दिया है। फिलहाल अंकशास्त्र कोविंद के पक्ष में भले दिख रहा...

राजनीतिः कर्ज-माफी काफी नहीं

पंजाब सरकार ने अहम फैसला लेते हुए लघु और सीमांत किसानों की कर्जमाफी की घोषणा की है। इसके बाद कर्नाटक की भी कांग्रेस सरकार...

मानवता का एक अहम तकाजा

1 करोड़ 20 लाख यूनिट रक्त की आवश्यकता हर साल अस्पतालों में होती है और रक्त दानकर्ताओं से पूर्ति सिर्फ नब्बे लाख यूनिट की...

जनसंख्या नियंत्रण की चुनौती

आज विश्व की जनसंख्या सात अरब से ज्यादा है। अकेले भारत की जनसंख्या सवा अरब से अधिक है। भारत विश्व का दूसरा सबसे अधिक...

शिक्षा, रोजगार और समाज

इस देश के अधिकतर युवा ऐसी डिग्रियों के साथ बाहर निकल रहे हैं जो उन्हें कुछ नहीं सिखातीं। ऐसे दौर में इस शिक्षा का...

रोजाना मूल्य निर्धारण की मुश्किलें

विगत एक मई से देश के पांच शहरों- उदयपुर, जमशेदपुर, पुंडूचेरी, चंडीगढ़ और विशाखापट्टनम- में प्रयोग के तौर पर पेट्रो उत्पादों का प्रतिदिन मूल्य...

राजनीतिः अन्नदाता के आक्रोश को समझें

देश के अनेक हिस्सों में किसान आंदोलनरत हैं। मध्यप्रदेश के मंदसौर में तो किसान आंदोलन अचानक अप्रिय प्रसंगों का साक्षी बन गया।

तल्ख हकीकत से उठता पर्दा

अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने जब कहा था कि नोटबंदी का कदम न समझदारी भरा है और न मानवीय, तब नोटबंदी से कालाधान और भ्रष्टाचार...

बेबाक बोलः धर्म भूमि- विकल्प बिना संकल्प!

गोरखपुर के गोरक्षनाथ मंदिर के महंत ने मुख्यमंत्री बनने के बाद एक सांसद के रूप में अपने आखिरी भाषण में संसद में कहा था...

राजनीतिः कैसी शिक्षा कैसे शिक्षक

जनजातीय तथा अनौपचारिक शिक्षा के विशेषज्ञ आचार्य नवल किशोर अम्बष्ट ने मुझे दो विवरण भेजे हैं।

सड़क हादसों का कहर

भारत सरकार की एक रिपोर्ट बताती है कि 2015 में देश में कुल 5.01 लाख सड़क दुर्घटनाएं हुर्इं, जिनमें 1.46 लाख लोगों की मौत...

खाड़ी संकट का दायरा

मध्यपूर्व फिर संकट और अस्थिरता के दौर से गुजर रहा है। कतर का बहिष्कार हो या ईरान में आतंकी हमला, इससे खाड़ी संकट नए...

सबरंग