राजनीति

जहां कुदरत है सबसे बड़ी दुश्मन

सियाचिन में इंसानी गतिविधियों से इलाके के पर्यावरण पर बुरा असर पड़ रहा है। वहां बर्फ तेजी से पिघल रही है और दोनों देशों...

राजनीतिः आधी अधूरी खाद्य व्यवस्था

इन कानूनों पर अमल ऐच्छिक नहीं है। जैसे आपराधिक न्याय व्यवस्था पर कोई समझौता नहीं हो सकता, वैसी ही स्थिति संसद से पारित कल्याणकारी...

राजनीतिः उच्च शिक्षा में बढ़ती खाई

शिक्षा के क्षेत्र में खूब कमाई के इरादे से पूंजी लगाने वाले ऐसी ही जगह विश्वविद्यालय खोलना चाहते हैं, जहां के लोगों के पास...

दलित भेदभाव की जड़ें

रोहित वेमुला जैसी घटना से राष्ट्र को जितनी हानि होती है, उतनी शायद किसी से नहीं। इतनी बड़ी आबादी को दबा कर और अलग...

दिल्ली को हरित नियोजन की दरकार

दिल्ली ही नहीं, पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र को इन कवायदों के दायरे में लाना होगा। परिवहन, मार्ग, समय, वाहन उपयोग तथा कचरा प्रबंधन संबंधी...

न्याय की सूनी डगर

बलात्कारी के प्रति नरमी दिखा महिला को समझौते के लिए कहना उसकी मर्यादा व आत्मसम्मान के प्रति संवेदनहीनता को दर्शाता है। यह न्याय की...

दूध की महंगाई के सबब

दूध के अनियोजित व्यवसाय का ही असर है कि खासतौर से शहरों में दूध आपूर्ति करने वाली कंपनियां चारे और उत्पादन लागत में बढ़ोतरी...

स्वराज की राह पर

वर्ष 1915 में गांधीजी दक्षिण अफ्रीका से स्वदेश लौटे। उनके राजनीतिक गुरु गोपालकृष्ण गोखले ने सुझाव दिया कि भारत आकर शीघ्रता में कोई काम...

गांधी की छवि बिगाड़ने का खेल

कभी तुलसीदास ने राम को लेकर कहा था ‘ऐसो को उदार जग माहीं’। कुछ इसी तर्ज पर इन दिनों कुछेक सुधीजन ‘गांधी जस उदार...

शिक्षा के राष्ट्रीयकरण की जरूरत

विश्व बैंक की एक रपट कहती है कि भारत में छह से दस साल के कोई तीन करोड़ बीस लाख बच्चे स्कूल नहीं जा...

शिंगणापुर मंदिर मुद्दा: प्रतिबंध के ख़िलाफ़ फड़णवीस के दरवाजे पर महिला संगठन ‘भूमाता’

अहमदनगर जिले में स्थित शनि शिंगणापुर मंदिर में 400 महिला कार्यकर्ताओं की जबरन प्रवेश करने की कोशिश को पुलिस द्वारा विफल किये जाने के...

कमाई के कंगूरे और गरीबी का गर्त

‘एन इकोनॉमी फॉर दी 1%’ नामक इस रिपोर्ट में बताया गया है कि आज महज बासठ खरबपतियों की संपत्ति 17.6 खरब डॉलर (1187.64 खरब...

क्या हो पुलिस सुधार की दिशा

दिल्ली हाइकोर्ट ने केंद्र सरकार को दिल्लीवासियों की सुरक्षा को लेकर चेताया है। दिल्ली पुलिस के लिए गृह मंत्रालय की स्वीकृति के बावजूद चौदह...

गंगा सफाई योजना अधर में क्यों

नमामि गंगे परियोजना के तहत जनवरी 2016 से ही गंगा की सफाई तीन चरणों में होनी है जिसमें अल्पकालिक योजना व पांच वर्ष की...

बदलते परिदृश्य में शिक्षक

आज शिक्षा के बदलते स्वरूप और भारतीय शिक्षा प्रणाली को देखते हुए इस पर गंभीर विमर्श की जरूरत है और उसके लिए कुछ बुनियादी...

दरकते रिश्तों का समाज

पारिवारिक मूल्यों के छीजते जाने का रोना हर तरफ सुनाई देता है, पर इसकी तह में जाने की जरूरत है। क्या विकास की हमारी...

गुजरात दंगों पर किताब लिख रही महिला पत्रकार को नरोडा पाटिया के दोषी ने मारे घूंसे

पत्रकार रेवती लौल 2002 दंगों को लेकर किताब लिख रही हैं। इसके चलते एक साल से वह अहमदाबाद में रह रही है।

खेती के सामने अलनीनो की चुनौती

बुआई कम होने का अर्थ पैदावार में कमी से है। पर मौसम इतना बदला क्यों? मौसम विभाग का मत है कि यह उलटफेर अलनीनो...

कैसे रुके हिरासत में यातना

सरकारी वकील ने अदालत को बताया कि हिरासत में मौतों की संख्या 2013 में 36 थी, 2014 में 39 थी और 2015 में बढ़...

कामगार महिलाओं की फिक्र

दिल्ली के महरौली इलाके में एक ऐसा क्रेच है जो चौबीस घंटे खुला रहता है। कई बार रात में काम करने वाले माता-पिता सिर्फ...

सम और विषम से आगे

दिल्ली सरकार की सम-विषम रणनीति की सराहना की जानी चाहिए। लेकिन अभी इस कार्यक्रम का मुख्य फोकस कारों समेत मोटर वाहनों से पैदा हुई...

मूक सहचरों की परवाह

यह बेहद अफसोस की बात है कि जल्लीकट्टू को फिर से इजाजत दिए जाने की अधिसूचना केंद्र में बैठी भाजपा सरकार ने जारी की।...

पठानकोट हमले का सच

पठानकोट वायुसेना अड्डे पर हमला दो कारणों से काफी गंभीर है। पहला कारण यह है कि जम्मू-कश्मीर से बाहर किसी सैन्य प्रतिष्ठान पर पहला...

पंजाब: माघी मेला बना राजनीतिक ताकत दिखाने का अखाड़ा, आप, कांग्रेस और अकाली दल की बड़ी रैलियां

मुक्‍तसर में अपनी रैली के दौरान अरविंद केजरीवाल पंजाब में आप के सीएम उम्‍मीदवार की घोषणा भी कर सकते हैं।