ताज़ा खबर
 

नेपाल भूकंप: रोज़ जल रही हैं 20 से 30 चिताएं, देखें तस्वीरें

Wed April 29 2015, 3:15 pm
  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    नेपाल में प्रसिद्ध पशुपतिनाथ घाट राजधानी काठमांडो का सबसे व्यस्त स्थल बन गया है क्योंकि वहां पर विनाशकारी भूकंप में मारे गए लोगों का बड़े पैमाने पर अंतिम संस्कार किया जा रहा है। इस भूकंप में अब मरने वालों की संख्या पांच हजार पार कर गई है। (फ़ोटो-रॉयटर्स)

  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    अधिकारियों ने बताया कि पांचवीं सदी के पशुपतिनाथ मंदिर के पास स्थित यह घाट पर आमतौर पर प्रतिदिन 20 से 30 शवों का अंतिम संस्कार किया जाता है। यद्यपि यहां पर लाये जाने वाले शवों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। (फ़ोटो-रॉयटर्स)

  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    सरकारी उपक्रम ‘द टिंबर कॉर्पोरेशन ऑफ नेपाल’ पहले लकड़ी 10 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बेचता था लेकिन अब यह लकड़ी मुफ्त में दे रहा है। (फ़ोटो-एपी)

  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    अंतिम संस्कार के लिए सामग्री बेचने वाली एक दुकान के प्रबंधक श्रीकृष्ण डांगोल ने कहा, ‘‘पिछले तीन दिनों के दौरान यहां पर एक हजार से अधिक शवों का अंतिम संस्कार किया गया है।’’(फ़ोटो-एपी)

  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    यहां पर एक समय में 10 शव जलाने की क्षमता है लेकिन पिछले तीन दिनों से यहां शव लाये जाने की प्रक्रिया इतनी अधिक है कि यह क्षमता भी पार हो गई है। जगह की कमी के चलते शवों को नदी के किनारे और जहां भी जगह मिले जलाया जा रहा है। (फ़ोटो-रॉयटर्स)

  • Nepal Earthquake, Pashupatinath Pyres, Nepal Earthquake Pyres, Earthquake Pyres, Pyres in Nepal, Nepal News

    यह घाट वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर के पास स्थित मणिकर्णिका घाट की तरह दिखता है जहां 24 घंटे शवों का अंतिम संस्कार किया जाता है। घाट के पास बागमती पुल के पास से गुजरने पर पूरे वातावरण में शव जलने के गंध महसूस की जा सकती है। (फ़ोटो-रॉयटर्स)

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें


हर पल अपडेट रहने के लिए JANSATTA APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

  1. V
    VIJAY LODHA
    Apr 30, 2015 at 9:54 am
    उत्तराखंड और नेपाल के कुदरती कहर के बाद भी हमने यदि सबक नहीं लिया, तो ऐसे ही किसी हादसे के लिए हम किसे जिम्मेदार साबित करेंगे...!
    (0)(0)
    Reply