June 26, 2017

ताज़ा खबर
 

इस शख्स ने सरकारी नौकरी छोड़कर शुरू की किसानी, जानिए कैसे बना करोड़पति

Sun November 06 2016, 12:12 pm
  • Harish Dhandev, aloe vera, crorepati, government Job, Harish Dhandev, farmer, rajasthan, jaisalmer

    सरकारी नौकरी छोड़कर खेती करने निकले राजस्थान के जैसलमेर के रहने वाले हरीश धनदेव ने वो कर दिखाया जो आज लाखों लोगों के लिए प्रेरणास्त्रोत बन सकता है। हरीश ने सरकारी नौकरी छोड़कर कर किसानी शुरू की और आज वह करोड़पति बन गए हैं। जहां एक और लोग किसानी छोड़ रहे हैं वहीं हरीश ने किसानी को अपना पेशा बनाकर यह साबित किया है कि खेती में रोजगार संभव है। (Photo Source: Facebook)

  • Harish Dhandev, aloe vera, crorepati, government Job, Harish Dhandev, farmer, rajasthan, jaisalmer

    यह कहानी शुरू होती है हरीश के एग्रीक्लचर एक्सपो में शामिल होने से। एग्रीक्लचर एक्सपो में शामिल होने के बाद उसकी जिंदगी में एक मोड़ आया और उसने अपनी 120 एकड़ कृषि भूमि पर खेती करने का फैसला किया। एक रिपोर्ट के मुताबिक हरीश का सालान टर्नओवर डेढ से दो करोड़ रुपए सालाना है। अब हरीश ने 'नैचुरेलो एग्रो' नाम से खुद की कंपनी बना ली। उनकी कंपनी जैसलमेर से 45 किलोमीटर दूर धहिसर में है। (Photo Source: Facebook)

  • Harish Dhandev, aloe vera, crorepati, government Job, Harish Dhandev, farmer, rajasthan, jaisalmer

    तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर (Photo Source: agrifarming.in)

  • Harish Dhandev, aloe vera, crorepati, government Job, Harish Dhandev, farmer, rajasthan, jaisalmer

    किसान से करोड़पति बनने वाले हरीश का कहना है कि उन्हें जैसलमेर म्युनिसिपल काउंसिल में जूनियर इंजीनियर की जॉब मिली थी, लेकिन उनका दिल हमेशा से खेती करना चाहता था। उनके पास जमीन और पानी था लेकिन आइडिया नहीं था। दिल्ली में हुए एक एग्रीकल्चर एक्सपो से मिला, जहां उन्हें एलोवेरा, आंवला और गुंडा उगाने का विचार मिला। रेगिस्तान में बाजरा, गेहूं, सरसो आदि उगाया जाता है लेकिन उन्होंने कुछ नया उगाने का निर्णय लिया। (Photo Source: Facebook)

  • Harish Dhandev, aloe vera, crorepati, government Job, Harish Dhandev, farmer, rajasthan, jaisalmer

    हरीश ने अपनी 120 एकड़ की भूमि में 'बेबी डेन्सिस' नामक एलोवेरा की वेराइटी को उगाने का फैसला किया। शुरू में उन्होंने एलोवेरा के 80,000 छोटे पौधे लगाए थे जिनकी संख्या अब 7 लाख हो गई है। उन्होंने बताया कि वह पिछले चार महीनों में पंतजलि की फैक्ट्ररियों को 125-150 टन एलो वेरा सप्लाई कर चुके हैं। (Photo Source: Facebook)

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें


हर पल अपडेट रहने के लिए JANSATTA APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

  1. No Comments.
सबरंग