ताज़ा खबर
 

यहां बेहद मजबूत है लोकतंत्र की नींव, तुर्की की तरह भारत में नहीं हो सकता तख्‍तापलट, ये हैं 9 वजह

Sun July 17 2016, 7:00 pm
  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    हाल ही में तुर्की में तख्‍तापलट की कोशिश नाकाम होने के बाद सोशल मीडिया के एक धड़े ने यह आशंका जताई है कि भारत में भी ऐसा हो सकता है। आइए आपको बताते हैं ऐसी 9 वजहें, जो साबित करते हैं कि भारतीय सेना कभी देश का नियंत्रण अपने हाथ में लेने की कोशिश नहीं करेगी। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    सामान्‍य तौर पर सेना तख्‍तापलट करती है। ज्‍यादातर तख्‍तापलट वरिष्‍ठ स्‍तर के सैन्‍य अफसरों के इशारे पर होते हैं। अब तक हुए तख्‍तापलट मुख्‍य रूप से छोटे और केन्‍द्रित देशों में हुए हैं। जहां राजधानी ही सबसे महत्‍वपूर्ण शहर होता है। लेकिन भारत के मामले में सिर्फ दिल्‍ली पर कब्‍जा कर कुछ नहीं होगा। राज्‍य सरकार चलती रहेंगी और केन्‍द्र सरकार पूरे देश में अफसराें के जरिए मौजूद रहेगी। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    भारतीय थलसेनाध्‍यक्ष का चयन निष्‍पक्ष, सम्‍मानित, गैर-राजनैतिक तरीके से किया जाता है। भारतीय सेना के अध्‍यक्ष मानव स्थितियों और मनोविज्ञान के माहिर होते हैं। वे सेना में लंबा समय बिताकर आते हैं और उनमें देशभक्ति का जज्‍बा कूट-कूटकर भरा होता है। इसके उलट, तख्‍तापलट करने वाले देशभक्‍तों की तरह शुरुआत करते हैं और बाद में ऊपर चढ़ने के लिए लालायित रहते हैं। भारतीय सैनिकों को इन दोनों स्थितियों और उसके परिणामों से ट्रेनिंग में ही रूबरू करा दिया जाता है। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    अगर सेना का संगठनात्‍मक ढांचा देखें, तो जंग में लड़ने वाले अफसर ही तख्‍तापलट का नेतृत्‍व करते हैं। किसी एक अफसर के सभी तरह की सोच वाले अधीनस्‍थ अफसरों को मना पाना संभव नहीं। भारतीय सेना का रेजीमेंटल सिस्‍टम भी तख्‍तापलट की आशंका को बेहद कम कर देता है। सेनाध्‍यक्ष योजना बना सकते हैं कि लेकिन बिना गृह सचिव काे जानकारी दिए सेना को मूव करने का आदेश नहीं दे सकते। सारी वित्‍तीय शक्तियां भी डिफेंस मिनिस्‍ट्री के पास होती हैं। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    अगर तख्‍तापलट होता है तो भी संविधान में प्रोटोकाल्‍स हैं जो उसे विफल बता सकते हैं। सिर्फ संसद पर कब्‍जा कर लेने से तख्‍तापलट नहीं होगा। अगर दिल्‍ली में ऐसा होता भी है तो बाकी रिजर्व पैरामिलिट्री फोर्सेज और कमांड सेटर गृह मंत्रालय के साथ मिलकर सत्‍ता फिर से हासिल कर सकते हैं। किसी भी तख्‍तापलट को कुछ महीनों में पलटा जा सकता है। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    अमेरिका, रूस और चीन की सेनाओं में सैनिक कहीं भी जगह खाली होने पर भेज दिए जाते हैं। इन सेनाओं में एक रेजीमेंट सिर्फ एक जंगी यूनिट भर होती है। जबकि भारतीय सिस्‍टम में सैनिक अपनी रेजीमेंट के लिए ही काम करता है। इसलिए सैनिक की वफादारी अपने रेजीमेंट के प्रति ज्‍यादा होती है। इसलिए किसी भी बड़े सैन्‍य अफसर के लिए विभिन्‍न रेजीमेंट के अफसरों को अपने ऑर्डर मानने के लिए राजी करना बेहद मुश्किल हो जाता है। अभी तक रेजीमेंटल सिस्‍टम वाली किसी सेना ने तख्‍तापलट नहीं किया है। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    मीडिया और सिविल सोसायटी के मजबूत होने की वजह से सरकारों को अपनी गतिविधियों पर नियंत्रण करना पड़ता है, इसलिए कभी तख्‍तापलट की जरूरत ही नहीं पड़ी। इसके अलावा भारतीय सेना में हर राज्‍य के लोगों का प्रतिनिधित्‍व है। इसलिए तख्‍तापलट की आशंका कम हो जाती है। पाकिस्‍तानी सेना में 70 फीसदी से ज्‍यादा सैनिक पंजाब प्रान्‍त से आते हैं। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    साल 2012 में, अखबारों ने खबर दी कि आर्मी की टुकड़‍ियों ने दिल्‍ली की तरफ मार्च किया था। तत्‍कालीन जनरल वीके सिंह ने कहा था कि 'क्‍या बकवास है।' भारतीय सेना शुरू से ही बेहद अनुशासित रही है, वह ऐसा कदम कभी नहीं उठाएगी। भारतीय सेना ने कभी भी राजनैतिक मामलों में दखल नहीं दिया। इसमें किसी तरह के बदलाव की गुंजाइश भी नहीं है। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    भारतीय संविधान में शक्तियों का बंटवारा बहुत सोच-समझकर किया गया है। राष्‍ट्रपति तीनों सेनाओं के सुप्रीम कमांडर हैं, प्रधानमंत्री उनके मुख्‍य सलाहकार और फिर तीनों सेनाध्‍यक्षों का नंबर आता है। एक सेनाध्‍यक्ष दूसरी सेना पर हुकुम नहीं चला सकता। अगर ऐसा होता भी है तो सुप्रीम कमांड राष्‍ट्रपति के हाथ होती है जो प्रधानमंत्री की सलाह पर पूरे देश की सेना को तख्‍तापलट के खिलाफ लड़ने को कह सकते हैं। (EXPRESS ARCHIVE)

  • Indian Army, Coup Attempt, Indian Army Coup Attempt, Indian Army Coup, Army Delhi Coup, Indian Military, Indian Navy, Indian Air Force, Army Genral, President of India, Turkey Coup, Regiments of Indian Army, Indian Army Strength, Supreme Commander of Indian Army, Military Rule in India, Army Rule In India, Hindi News, Jansatta

    ब्रिटिश काल के दौरान सेना को बेहद महत्‍वपूर्ण माना जाता था। सेना का दखल नीतिगत मामलों में भी हुआ करता था। तब कमांडर-इन-चीफ ही रक्षा मंत्री हुआ करता था। लेकिन आजादी के बाद पीएम बने नेहरू ने रक्षा बजट में कई कटौतियों की। तब भारतीय सेना के पहले चीफ, फील्‍ड मार्शल करियप्‍पा ने सार्वजनिक तौर पर सरकार की बुराई की थी। लेकिन उन्‍हें चुप करा दिया गया। 1958 में पाकिस्‍तान में तख्‍तापलट होने के बाद भारतीय सेना को नियंत्रण में रखा जाने लगा। (EXPRESS ARCHIVE)

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें


हर पल अपडेट रहने के लिए JANSATTA APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

  1. No Comments.
सबरंग