December 04, 2016

ताज़ा खबर

 

दिवाली 2016: जानिए पटाखों में इस्तेमाल होने वाले किस केमिकल से शरीर को होता है क्या नुकसान

Sun October 30 2016, 9:29 am
  • crackers, health effect, respiratory, diwali

    हर बार दिवाली को लोग काफी उत्साह के साथ मनाते हैं। सभी लोग इस दिन ज्यादा से ज्यादा पटाखे फोड़कर खुश होना चाहते हैं। लेकिन खुशी के इस इजाहर में वे लोग ये भूल जाते हैं कि वे लोग जिन पटाखों को फोड़ रहे हैं उनमें काफी सारे कैमिकल मौजूद हैं जो उनके साथ-साथ बाकी लोगों की सेहत के लिए भी नुकसान दायक होते हैं। पटाखे बनाने के लिए मेटल, नाइट्रोजन गैस के ऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और कई तरह की जानलेवा कैमिकल का इस्तेमाल होता है। इस तरह के कैमिकल की मदद से ही पटाखों में से तरह-तरह के रंग निकलते हैं। लेकिन इन सब का हमारे शरीर पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है। जानिए किस कलर का क्या होता है नुकसान।

  • चमकीले इफेक्ट- इसके लिए सलफाइड का इस्तेमाल होता है। इससे हमें सांस लेने में दिक्कत होती है।

  • crackers, health effect, respiratory, diwali

    नीला कलर- इसके लिए टॉपर कंपाउंड का इस्तेमाल होता है। इससे कैंसर, स्किन बीमारियां और हार्मोनल असंतुलन होता है।

  • crackers, health effect, respiratory, diwali

    लाल कलर- इसमें स्ट्रोन्टियम और लिथियम कंपाउंड का इस्तेमाल होता है। इससे बच्चों के शारिरीक विकास में बाधा उत्पन्न होती है। सांस लेने में दिक्कत होती है।

  • crackers, health effect, respiratory, diwali

    सफेद कलर- यह एल्मूमीनियम से बनता है। इसमे स्किन से जुड़ी परेशानी हो सकती है। इससे अल्जाइमर भी हो सकता है।

  • crackers, health effect, respiratory, diwali

    हरा कलर- इसमें बेरियम नाइट्रेट का इस्तेमाल होता है। जिसकी वजह से सांस संबंधी परेशानियां, पेट और आंतो से जुड़ी बीमारियां और मांसपेशियों में कमजोरी होती है।

ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट, एनालिसिस, ब्‍लॉग के लिए फेसबुक पेज लाइक, ट्विटर हैंडल फॉलो करें और गूगल प्लस पर जुड़ें

एंटरटेनमेंट की खबरें, फोटोज , वीडियो के लिए हमें फेसबुकं पर फॉलो करें


हर पल अपडेट रहने के लिए JANSATTA APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

सबरंग