March 29, 2017

ताज़ा खबर

 

डेंगू, चिकनगुनिया के बाद देश में बरपा जापानी बुखार का कहर, अब तक 42 लोगों की हो चुकी मौत

जापानी बुखार से आज एक और मौत होने से ओडिशा के मल्कानगिरि में इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या 42 हो गई।

Author भुवनेश्वर | October 12, 2016 10:37 am

जापानी बुखार से भवनेश्वर में एक और मौत होने से ओडिशा के मल्कानगिरि में इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या 42 हो गई। इस आदिवासी जिले तथा पड़ोसी जिले कोरापुट में मच्छर नियंत्रण अभियान तेज किया गया है। मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी यूएस मिश्रा ने कहा कि यहां जिला अस्पताल के आईसीयू में एक बच्चे की मौत के बाद जापानी बुखार से मरने वालों की संख्या बढकर 42 हो गई है। हालांकि अपुष्ट खबरों में मच्छर जनित इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 45 बताई गई है। इस बीमारी से करीब 22 गांव प्रभावित हुए हैं। मल्कानगिरि जिला कलेक्टर के सुदर्शन चक्रवर्ती ने कहा कि कम से कम 61 मरीजों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है जिसमें से छह आईसीयू में हैं। उन्होंने कहा कि 12 मरीजों को आज इलाज के बाद छुट्टी दी गई। अब तक 62 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

वहीं दूसरी ओरह देश के कई राज्यों में डेंगू पांव पसारे हुए है। बात अगर राजधानी दिल्ली की करें तो डेंगू के मामलों की संख्या 2,100 का आंकड़ा पार कर गई है हालांकि पिछले साल अकेले सितंबर में यह आंकड़ा 6,775 था। नगर निगम की ओर से सोमवार को जारी एक सूचना के मुताबिक एक अक्तूबर तक 2,133 डेंगू के मामले सामने आए हैं। इसमें से 1,362 पिछले महीने दर्ज किए गए थे और 441 मामले पिछले सप्ताह दर्ज किए गए हैं। विभिन्न अस्पतालों में डेंगू के कारण 21 लोगों की मौत हुई थी। इनमें नौ मौतें का आंकड़ा अकेले एम्स का था, हालांकि नगर निकायों के अनुसार इस बीमारी के कारण केवल चार लोगों की मौत हुई है।

दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने शहर में सभी नगर निकायों की ओर से मच्छर जनित बीमारियों की रिपोर्ट तैयार की है। इस बीमारी की पहली शिकार उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद की 17 वर्षीय लड़की बनी। उसने 21 जुलाई को दम तोड़ दिया। एसडीएमसी ने 391 मामले दर्ज किए हैं जो शहर के सभी क्षेत्रों में सर्वाधिक हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम और पूर्वी दिल्ली नगर निगम में क्रमश: 218 और 148 मामले दर्ज हुए हैं। एसडीएमसी के मध्य जोन में 154 मामले दर्ज किए गए हैं जो चारों जोनों में सर्वाधिक है। नजफगढ़, पश्चिम और दक्षिणी जोनों में क्रमश: 101, 78 और 58 मामले दर्ज हुए हैं। उत्तर दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत आने वाले इलाकों में सदर पहाड़गंज में 23 मामले, रोहिणी में 48 और नरेला में 20, करोलबाग में 29 और सिटी में 41 तथा सिविल लाइंस में 57 मामले दर्ज किए गए हैं।

हालांकि अब कोर्ट की फटकार के बाद दिल्ली सरकार ने इस वायरल से निपटने के लिए कदम उठाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 12, 2016 10:37 am

  1. No Comments.

सबसे ज्‍यादा पढ़ी गईंं खबरें

सबरंग