ताज़ा खबर
 

ATM बोले तो किसी भी समय नकदी नहीं…

नोटबंदी के बाद एटीएम मशीनों पर पड़ने वाले दबाव के कारण इन दिनों इलाकों के आधे से ज्यादा एटीएम खराब चल रहे हैं।
Author December 4, 2016 01:53 am

नोटबंदी के बाद एटीएम मशीनों पर पड़ने वाले दबाव के कारण इन दिनों इलाकों के आधे से ज्यादा एटीएम खराब चल रहे हैं। एटीएम मशीनों के आस-पास रहने वाले लोगों का कहना है कि इससे पहले ये एटीएम इतने ज्यादा दिनों तक खराब नहीं रहते थे। लेकिन इन दिनों कई एटीएम एक हफ्ते से अधिक दिनों से खराब रहते हैं। न्यू अशोक नगर के ब्लॉक बी के मुख्य मार्ग पर इन दिनों एक एसबीआइ एटीएम पिछले शुक्रवार से बंद पड़ा है। एसबीआइ एटीएम के ठीक बगल में रहने वाले सुमित का कहना था कि यह एटीएम इस इलाके का सबसे ज्यादा नकदी निकाले जाने वाला एटीएम है। इससे पहले इतने दिनों तक यह एटीएम कभी खराब नहीं रहा लेकिन पिछले शुक्रवार को चलते-चलते खराब हो गया जो अभी तक ठीक नहीं हुआ। जबकि हर दस मिनट में दो चार लोग एटीएम में झांक कर चले जाते हैं। सुमित ने बताया कि इसके सामने इंडियन बैंक के एटीएम पर दस दिनों से तख्ती लटक रही है कि इस एटीएम से एक महीने तक नकदी नहीं मिल सकेगी।

ऐसा ही हाल अशोक नगर मेट्रो के थोड़ी दूर पर एचडीएफसी बैंक के एटीएम का है। जो नोटबंदी के शुरुआती तीनचार दिन खुला फिर इसके बाद से बंद रहता है। इस एचडीएफसी एटीएम के बगल में बिरयानी बेचने वाले शोएब का कहना था कि यहां के एचडीएफसी और एसबीआइ एटीएम में एचडीएफसी तो करीब एक महीने से काम नहीं कर रहा है पर एसबीआइ का भी हाल कोई बहुत अच्छा नहीं है। इसकी मशीन और सर्वर में खराबी आती रहती है। इसके कारण कई बार नकदी रहते हुए भी पूरे दिन एटीएम नहीं चलते। शनिवार को ही तीन बजे के करीब इस एसबीआइ के बाहर पैसे निकालने वालों की लंबी लाइन लगी थी। दस मिनट के भीतर देखते-देखते सड़क पर पानी भरे होने के बावजूद उसके बगल में एटीएम की कतार में सौ की संख्या के आस-पास लोग खड़े हो गए। उस समय एटीएम का गार्ड शटर उठाकर नकदी भरने वालों से एटीएम में नकदी भरवाने में मदद कर रहा था। नकदी एटीएम में डाली गई और मुश्किल से एक या दो लोग पैसे निकाल पाए होंगे तभी एटीएम में कुछ खराबी आ गई और फिर पता चला कि सर्वर डाउन हो गया है। इसके कारण गार्ड को उस एसबीआइ एटीएम का भी शटर गिराना पड़ा।

एटीएम की लाइन में लगे आनंद शुक्ला का कहना था कि सुबह से इस इलाके में पैसे निकालने के लिए भटक रहा हूं। पता चला कि मेट्रो के पास वाले एसबीआइ में पैसे रहते हैं और तीन बजे के बाद एटीएम में पैसे भर भी दिए जाते हैं तो निकालने के लालच से आया था। अब किधर जाऊं। वहां खड़े संदीप भी इन दिनों एटीएम के हालात बताने लगा कि आजकल 10 में से चार एटीएम ही सही से काम कर रहे हैं। बाकी बंद चालू होते रहते हैं। इनके मरम्मत में उतनी स्फूर्ति नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.