ताज़ा खबर
 

जबरन धर्म परिवर्तन कराने वाले जाकिर नाईक के खिलाफ मुसलिम नेताओं ने उठाई आवाज

दिल्ली के कई मुसलिम नेताओं ने इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के प्रमुख विवादास्पद नेता जाकिर नाईक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
Author नई दिल्ली | July 27, 2016 01:13 am

दिल्ली के कई मुसलिम नेताओं ने इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के प्रमुख विवादास्पद नेता जाकिर नाईक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। आॅल इंडिया उलेमा मशाईख बोर्ड की ओर से हुई पत्रकार वार्ता में मुसलिम नेताओं ने जाकिर नाईक के ‘पीस टीवी’ के प्रसारण को बंद करने की मांग की है और उनपर विदेशी पैसे का खेल करने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने जाकिर नाईक पर देश में युवाओं के बीच कट्टरता फैलाने का भी आरोप लगाया है।

मुसलिम नेताओं ने आरोप लगाया कि जाकिर नाईक बड़ी बेबाकी से कुरान और हदीस की गलत व्याख्या करके न सिर्फ मुसलमानों को गुमराह करते हैं, बल्कि इस्लाम, पैगंबर साहब और उनके पारिवारिक सदस्यों का भी अपमान करते हैं। मुसलमानों के विरोध की वजह से उनके कई कार्यक्रम भी रद्द हो चुके हैं।

2008 में उन पर प्रतिबंध भी लग चुका है। बोर्ड का कहना है कि अब समय है कि ऐसी विचारधारा के खिलाफ कड़े कदम उठाकर मुसलिम युवाओं और भारतीय संस्कृति की सुरक्षा की जाए। बोर्ड ने जाकिर नाईक के खिलाफ जांच में तेजी लाने, पीस टीवी पर रोक लगाने और उनके विदेशी धन के स्रोतों की भी जांच करवाने की सरकार से मांग की है।

प्रेस कांफ्रेंस में बोर्ड के राष्ट्रीय सचिव शाह हसन जमीं, सज्जादा नशीं दरगाह कुतुबुद्दीन काकी महरोली के संरक्षक अब्दुल मोईद अजहरी, वाजा सैय्यद फरीद निजामी, सूफी अजमल निजामी, सैय्यद शाहबाद रिजवी, मौलाना अबु बकर, रईस अहमद अशरफी और कारी इलयास अहमद ने संबोधित किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.