March 27, 2017

ताज़ा खबर

 

मनी-लांड्रिंग के मामले को लेकर IGI एयरपोर्ट पर पकड़े गए मीट निर्यातक मोइन कुरैशी, ED ने की जांच

विवादों के लिए चर्चित दिल्ली के मांस निर्यातक मोइन कुरैशी को आज थोड़े समय के लिए दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराट्रीय हवाई अड्डे पर निरुद्ध किया गया पर बाद में उन्हें दुबई के लिए उड़ान पकड़ने की छूट दे दी गयी।

Author नई दिल्ली | October 15, 2016 23:08 pm
(Source: Express Archive)

विवादों के लिए चर्चित दिल्ली के मांस निर्यातक मोइन कुरैशी को आज थोड़े समय के लिए दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराट्रीय हवाई अड्डे पर निरुद्ध किया गया पर बाद में उन्हें दुबई के लिए उड़ान पकड़ने की छूट दे दी गयी। अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने मनी-लांड्रिंग के एक मामले में कुरैशी की तलाश का नोटिस जारी कर रखा था और उसी के आधार पर यह कार्रवाई की गयी है। अधिकारियों ने बताया कि कुरैशी सुबह दुबई जाने के लिए हवाई अड्डे पर पहुंचे थे। आव्रजन विभाग के अधिकारियों ने कुरैशी के हवाई अड्डे पर होने की सूचना प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों को दी और उन्होंने वहां पहुंच कर उन्हें निरुद्ध कर लिया था। हवाई अड्डे के अधिकारियों के अनुसार कुरैशी ने अधिकारियों से कहा कि उन्होंने अदालत में बांड भर कर उससे विदेश जाने की अनुमति ले रखी है। इस संबंध में उनके वकीलों ने हवाई अड्डे को कुछ कागजात फैक्स भी किए थे। इसके आधार पर आव्रजन विभाग के अधिकारियों ने उन्हें उड़ान पकड़ने की छूट दे दी।

ईडी के सूत्रों ने कहा, ह्यहमने आव्रजन विभाग के अधिकारियों से वे कागजात मांगे हैं जिनके आधार पर कुरैशी को बाहर जाने की छूट दी गयी। हमारे अधिकारी कुरैशी को हिरासत में लेने के लिए मौके पर मौजूद थे पर उन्हें विमान में बैठने की छूट दे दी गयी।ह्ण समझा जाता है कि ईडी के अधिकारी काफी समय से कुरैशी से पूछताछ करना चाहते थे और उन्हें नोटिस भी भेजा था। एजेंसी ने उनके खिलाफ मनी लांड्रिंग का मामला पिछले साल दर्ज किया था। कुरैशी पर कर चोरी और हवाला सौदों में शामिल होने के आरोपों में भी जांच चल रही है।

प्रवर्तन निदेशालय ने मांस व्यापारी कुरैशी पर मनी लांड्रिंग निवारण अधिनियम के तहत नए आरोप निर्धारित किए हैं। ये आरोप कुरैशी के खिलाफ आयकर विभाग की ओर से पिछले साल दिल्ली की स्थानीय अदालत में दाखिल कर चोरी संबंधी आरोप-पत्र पर आधारित है। ईडी ने कुरैशी के खिलाफ इससे पहले विदेशी विनिमय प्रबंध कानून (फेमा) के तहत जांच शुरू की थी। यह जांच भी आयकर विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए कुछ दस्तावेजों पर आधारित थी। इन दस्तावेजों में इस मांस कारोबारी और उसकी कंपनियों के हवाला कारोबार में संलिप्तता और फेमा कानून के उल्लंघन में शामिल होने के संकेत थे।

ईडी ने कहा था कि कुरैशी ने हवाला के जरिए काफी मोटी रकम दुबई, लंदन और यूरोप के कुछ अन्य स्थानों में भेजी है। एजेंसी ने पिछले साल कुरैशी के ठिकानों पर छापे भी मारे थे तथा उनसे पूछताछ की थी। आयकर विभाग की जांच पड़ताल में पाया कि कुरैशी के पास में 11 बैंक लॉकर ऐसे थे जो उनके कर्मचारियों और सहयोगियों के नाम थे पर उनमें सामान कुरैशी का था। ये लॉकर उनकी कंपनी एएमक्यू ग्रुप के कर्मचारियों के नाम थे। जांच एजेंसियों का दावा है कि इन बैंक लॉकरों में 11.26 करोड़ रुपए की नकदी और 8.35 करोड़ रुपए के आभूषण बरामद किए गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 15, 2016 11:06 pm

  1. No Comments.

सबरंग