December 05, 2016

ताज़ा खबर

 

ज्वैलर्स ने किया मोदी द्वारा 1,000, 500 का नोट बंद करने के फैसले का स्वागत

आभूषण उद्योग ने सरकार के 1,000 और 500 का नोट बंद करने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह कर चोरी रोकने तथा अनुपालन में सुधार की दृष्टि से एक साहसी कदम है।

Author मुंबई | November 9, 2016 16:57 pm

आभूषण उद्योग ने सरकार के 1,000 और 500 का नोट बंद करने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह कर चोरी रोकने तथा अनुपालन में सुधार की दृष्टि से एक साहसी कदम है। आॅल इंडिया जेम्स एंड ज्वेलरी ट्रेड फेडरेशन :जीजेएफ: के निदेशक अशोक मीनावाला ने पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘यह कर चोरी रोकने की दृष्टि से एक स्वागत योग्य कदम है। हालांकि, इससे थोड़े समय के लिए लोगों को असुविधा होगी। दीर्घावधि की दृष्टि से यह एक साहसी कदम है जिससे लोगों को लाभ होगा।’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इसकी घोषणा के बाद लोग रात को आभूषण की दुकानों पर जुटे रहे। दुकानें मध्यरात्रि तक खुली रहीं। उन्होंने कहा कि देशभर से मिल रही रपटों के अनुसार कल रात सर्राफा कारोबार करीब 200 प्रतिशत पर पहुंच गया। औसतन उद्योग प्रतिदिन दो टन का कारोबार करता है।

 
मुंबई ज्वेलर्स एसोसिएशन के उपाध्यक्ष कुमार जैन ने कहा कि मांग और आपूर्ति के अंतर की वजह से घरेलू बाजार में सोना चढ़ा है। यहां सोने उच्च्ंचे प्रीमियम पर बिक रहा है। जैन ने कहा, ‘‘सोने का भाव 31,900 रुपए प्रति दस ग्राम पर चल रहा है। हालांकि, बाजार में सोना 10,000 रच्च्पये के प्रीमियम पर बिक रहा है। इस तरह सोना करीब 40,000 रुपए प्रति दस ग्राम पर बेचा जा रहा है।’ विश्व स्वर्ण परिषद डब्ल्यूजीसी: के प्रबंध निदेशक सोमसुंदरम पीआर ने कहा, ‘‘ऊंचे मूल्य की करेंसी को बंद कर सरकार ने एक निर्णायक और स्वागत योग्य कदम उठाया है। यह कर चोरी रोकने तथा अनुपालन में सुधार की दृष्टि से एक अच्छा कदम है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 4:54 pm

सबरंग