ताज़ा खबर
 

विवादों के बीच अरविंद केजरीवाल ने किया एलिवेटेड फ्लाईओवर का उद्घाटन

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को विकासपुरी-मीराबाग एलिवेटेड फ्लाईओवर का उद्घाटन करते हुए दावा किया कि इस फ्लाईओवर के निर्माण में सरकार ने 110 करोड़ रुपए की बचत की है।
Author July 25, 2016 04:06 am

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को विकासपुरी-मीराबाग एलिवेटेड फ्लाईओवर का उद्घाटन करते हुए दावा किया कि इस फ्लाईओवर के निर्माण में सरकार ने 110 करोड़ रुपए की बचत की है। उधर, शनिवार को ही इस फ्लाईओवर का उद्घाटन कर चुके पश्चिमी दिल्ली के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम स्थल पर विरोध प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि केजरीवाल झूठा दावा कर रहे हैं क्योंकि इस फ्लाईओवर के निर्माण में 43 करोड़ रुपए ज्यादा खर्च हुए हैं।

उद्घाटनों के विवाद के बीच लोगों को समर्पित किया गया यह फ्लाईओवर आउटर रिंग रोड पर विकासपुरी को मीराबाग से जोड़ता है। उद्घाटन भाषण में अरविंद केजरीवाल ने दावा किया कि नई डिजाइनिंग के कारण सामान्य फ्लाईओवर की तुलना में प्रोजेक्ट लागत में 25 फीसद की बचत हुई। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट के लिए अनुमोदित लागत 559 करोड़ रुपए थी, लेकिन फ्लाईओवर 450 करोड़ रु पए में ही बन कर तैयार हो गया, इस तरह कुल 110 करोड़ रुपए की बचत हुई। दिल्ली सरकार ने इसे रेकार्ड उपलब्धि बताया है और कहा है कि तमाम चुनौतियों के बावजूद सही योजना और प्रयासों से यह मात्र तीन साल में बन कर तैयार हो गया।

उधर महाबला मिश्र के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कार्यक्रम स्थल पर विरोध प्रदर्शन किया और दिल्ली सरकार के दावों को झूठा ठहराया। महाबल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने इस फ्लाईओवर के निर्माण में 43 करोड़ रुपए अधिक लगाए हैं जिससे सरकार को नुकसान हुआ है। मिश्रा के मुताबिक सच्चाई यह है कि कांग्रेस सरकार ने जून 2012 में इस फ्लाईओवर के लिए 560 करोड़ रुपए आबंटित किए थे। फरवरी 2013 में एक कॉम्पिटीटिव टेंडर के जरिए प्रोजेक्ट लागत के लिए 407 करोड़ रुपए की रकम तय की गई थी, जो सरकार ने पास किया था। कांग्रेस नेता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल यह झूठ फैला रहे हैं कि उन्होंने इस पुल के निर्माण में 110 करोड़ रुपए बचाए हैं और इसका आधार यह है कि उन्होंने यह झूठी गणना जून 2012 में पास हुए टेंडर से की न कि कॉम्पिटीटिव टेंडर से।

विकासपुरी-मीरा बाग एलिवेटेड फ्लाईओवर को पैदल राहगीरों, साइकिल सवारों और पर्यावरण के अनुकूल होने का दावा किया जा रहा है। 4.30 किमी क्षेत्र में फैले फ्लाईओवर कॉरिडोर की लंबाई 3.40 किमी है जिसमें 6 लेन है। 3 मीटर चौड़े एक खंभे पर खड़े कॉरिडोर पर 2 मीटर चौड़ा साइकल ट्रैक है और 2.5 मीटर चौड़ा फुटपाथ है जबकि सर्विस रोड 5 मीटर चौड़ी है। इस फ्लाईओवर के कारण पांच इंटरसेक्शन अब सिग्नल मुक्त हो गए हैं, ये हैं, आनंद कुंज, टी-जंक्शन, मनोहर नगर क्रॉसिंग, केशोपुर क्रॉसिंग, और सब्जी मंडी टी जंक्शन। सरकार ने दावा किया है कि अब इस रूट को पार करने में मात्र 12 मिनट लगेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.