ताज़ा खबर
 

डिग्री के लिए भूख हड़ताल

सेक्टर- 62 स्थित आइएमएस कॉलेज से पढ़ाई करने वाले छात्रों का का भविष्य फिर से अधर में फंस गया है।
Author नोएडा | August 4, 2016 01:12 am

सेक्टर- 62 स्थित आइएमएस कॉलेज से पढ़ाई करने वाले छात्रों का का भविष्य फिर से अधर में फंस गया है। लाखों रुपए खर्च कर 4 साल के डिग्री कोर्स में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों की अंतिम परीक्षा नहीं हुई है। जबकि फरवरी, 2016 में इस परीक्षा को होना था। परीक्षा नहीं होने की वजह से डिग्री भी अटक गई है। डिग्री नहीं मिलने पर मंगलवार से करीब 150 से ज्यादा विद्यार्थी कॉलेज प्रबंधन के खिलाफ धरने और भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं।

विद्यार्थियों का आरोप है कि शुरू से कॉलेज प्रबंधन ने उनके साथ धोखा कर भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। आरोप है कि दाखिले के समय ब्रोशर पर पंजाब तकनीकी विश्वविद्यालय से संबद्धता दिखाई थी। दाखिला लेने के 6 महीने बाद कर्नाटक राज्य ओपन विश्वविद्यालय से संबद्धता किए जाने की जानकारी दी थी। बताया गया है कि धरने पर बैठे करीब आधा दर्जन विद्यार्थियों की तबीयत बिगड़ गई। दो छात्राओं के बेहोश होने पर पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां प्राथमिक इलाज के बाद छुट्टी मिल गई है।

आइएमएस डिजाइन एंड इनोवेशन एकेडमी (डीआइए) के फैशन डिजाइनिंग के 4 साल के कोर्स में देश भर से विद्यार्थियों ने दाखिला लिया था। छात्रों के मुताबिक, 60 हजार रुपए प्रति सेमेस्टर फीस ली गई थी। कोर्स के बाद वैध डिग्री ही नहीं बल्कि प्लेसमेंट का भी दावा कॉलेज प्रबंधन ने किया था। आरोप है कि कॉलेज प्रबंधन ने केवल मार्कशीट ही विद्यार्थियों को दी हैं। डिग्री के बारे में पूछने पर केवल आश्वासन दिया है। केएसओयू ने फरवरी में होने वाली फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा नहीं कराई है।

विद्यार्थियों ने कॉलेज प्रबंधन पर फर्जी परीक्षा कराने का भी आरोप लगाया है। उधर, कॉलेज प्रबंधन के अनुसार 2014-15 से पहले बैच के विद्यार्थियों का दाखिला केएसओयू के अधीनस्थ हुआ था। यूजीसी ने केएसओयू के प्रदेश के बाहर परीक्षा कराने पर रोक लगाई थी। जिसके कारण 2016 की परीक्षा नहीं हुई है। रोक के खिलाफ कॉलेज प्रबंधन ने मद्रास हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। प्रबंधन का दावा है कि कोर्ट का फैसला उनके पक्ष में आया है, लेकिन विश्वविद्यालय परीक्षा नहीं करा रहा है। 2015 के बाद कोर्स में दाखिला लेने वालों को चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय की डिग्री मिलेगी। हालांकि बुधवार शाम को कॉलेज प्रबंधन ने लिखित आश्वासन देकर धरना खत्म कराया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.