ताज़ा खबर
 

आईसीसी वार्षिक पुरस्कारों में अश्विन को दोहरी खुशी, भारत के लिए द्रविड़ भी कर चुके हैं यह कारनामा

अश्विन ने 14 सितंबर 2015 से 20 सितंबर 2016 के वोटिंग पीरियड के दौरान आठ टेस्ट मैचों में 48 विकेट लिये और 336 रन बनये।
Author दुबई | December 22, 2016 16:25 pm
भारत के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (फाइल फोटो)

दुबई। रविचंद्रन अश्विन को आईसीसी वार्षिक पुरस्कारों में गुरुवार (22 दिसंबर) को दोहरी खुशी मिली तथा जहां उन्होंने आईसीसी का वर्ष का क्रिकेटर बनने के लिये सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी हासिल की वहीं उन्हें आईसीसी का वर्ष का टेस्ट क्रिकेटर भी चुना गया। यह ऑफ स्पिनर सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी हासिल करने वाला तीसरा भारतीय और ओवरऑल 12वां खिलाड़ी बन गया है। अश्विन से पहले भारतीयों में राहुल द्रविड़ (2004) और सचिन तेंदुलकर (2010) यह सम्मान हासिल कर चुके हैं। सर गारफील्ड सोबर्स ट्रॉफी हासिल करने वाले अन्य खिलाड़ियों में एंड्रयू फ्लिंटाफ और जाक कैलिस (संयुक्त विजेता 2005), रिकी पोंटिंग (2006 और 2007), शिवनारायण चंद्रपाल (2008), मिशेल जॉनसन (2009 और 2014), जोनाथन ट्राट (2011), कुमार संगकारा (2012) माइकल क्लार्क (2013) और स्टीव स्मिथ (2015) शामिल हैं। अश्विन को आईसीसी का वर्ष का टेस्ट क्रिकेटर भी चुना गया। वह द्रविड़ (2004) के बाद दूसरे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्हें एक साल में दो दोनों प्रतिष्ठित पुरस्कार मिले। कैलिस (2005), पोंटिंग (2006), संगकारा (2012), क्लार्क (2013), जॉनसन (2014) और स्मिथ (2015) अन्य खिलाड़ी हैं जिन्होंने एक साल में ये दोनों पुरस्कार हासिल किये। अश्विन ने 14 सितंबर 2015 से 20 सितंबर 2016 के वोटिंग पीरियड के दौरान आठ टेस्ट मैचों में 48 विकेट लिये और 336 रन बनये। अश्विन ने इस बीच 19 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी 27 विकेट लिये। अश्विन 2015 के आखिर में दुनिया के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज थे और 2016 में भी वह दो बार इस पोजीशन पर पहुंचे। वह अब भी विश्व के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज हैं।

अश्विन ने दो प्रतिष्ठित पुरस्कार मिलने पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा, ‘इस प्रतिष्ठित सम्मान से नवाजे जाने से मैं बहुत खुश हूं। आईसीसी का वर्ष का क्रिकेटर बनकर सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों के नक्शेकदम पर चलना बहुत अच्छा अहसास है। इसके साथ वर्ष का आईसीसी टेस्ट क्रिकेटर बनना सोने पे सुहागा जैसा है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने यह जो महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की उसके लिये कई लोगों का आभार व्यक्त करता हूं। पिछले दो साल बेहतरीन रहे लेकिन यह साल तो विशिष्ट रहा। मैंने जिस तरह से गेंदबाजी और बल्लेबाजी की तथा अपनी भूमिका निभायी वह ध्यान देने योग्य है। जहां तक मेरा संबंध है तो मेरे लिये सबसे अधिक महत्वपूर्ण वे लोग हैं जिनका मेरी सफलता में हाथ रहा है।’ अश्विन ने कहा, ‘मैं यह पुरस्कार अपने परिवार को समर्पित करता हूं। मैं आईसीसी और विशेषकर अपने साथियों का आभार व्यक्त करता हूं। मैं टीम की सफलता के लिये सहयोगी स्टाफ का आभार व्यक्त करता हूं। महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास लेने के बाद हम बदलाव के दौर से गुजरे। एक युवा (टेस्ट) कप्तान (विराट कोहली) ने कमान संभाली और हम सही राह पर आगे बढ़े और अब हमारे पास एक नयी टीम है।’

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने भी अश्विन को इस बेजोड़ सत्र के लिये बधाई दी। रिचर्डसन ने कहा, ‘यह अश्विन के लिये यादगार दौर रहा जिसमें उन्होंने लगातार आलराउंड और मैच विजेता प्रदर्शन किया और यह सब खिलाड़ियों की रैकिंग में साफ नजर आता है। उन्हें अपनी पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में गिना जाना युक्तिसंगत है।’ उन्होंने कहा, ‘आईसीसी का वर्ष का क्रिकेटर और आईसीसी का वर्ष का टेस्ट क्रिकेटर दोनों पुरस्कार जीतना बहुत बड़ी उपलब्धि है। अश्विन का प्रदर्शन सारी कहानी बयां करता है और वह इन सम्मानों का सही हकदार था। मैं आईसीसी की तरफ से उन्हें बधाई देता हूं।’ अन्य पुरस्कारों में दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डि काक को आईसीसी का वर्ष का क्रिकेटर चुना गया। वह यह पुरस्कार हासिल करने वाले दुनिया के नौवें और एबी डिविलियर्स (2010, 2014 और 2015) के बाद दूसरे दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी हैं। डिकाक ने वोटिंग पीरियड के दौरान 16 वनडे में 793 रन बनाये जिसमें चार शतक और एक अर्धशतक शामिल है। उन्होंने इसके अलावा विकेटकीपर के रूप में 15 शिकार भी किये। वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रेथवेट को आईसीसी विश्व टी20 के फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ कोलकाता में दस गेंदों पर नाबाद 34 रन के प्रदर्शन के लिये आईसीसी वर्ष का सर्वश्रेष्ठ टी20 प्रदर्शन पुरस्कार दिया गया।

ब्रेथवेट की इस पारी में आखिरी ओवर में लगाये गये चार छक्के भी शामिल हैं जिससे वेस्टइंडीज यह मैच जीतने में सफल रहा था। यह 24 वर्षीय क्रिकेटर यह पुरस्कार जीतने वाला पहला कैरेबियाई खिलाड़ी है। बांग्लादेश के तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान को आईसीसी का वर्ष का उदीयमान खिलाड़ी पुरस्कार के लिये चुना गया। मुस्तफिजुर ने इस दौरान तीन वनडे में आठ विकेट और दस टी20 में 19 विकेट लिये थे। वह आईसीसी वार्षिक पुरस्कार हासिल करने वाले पहले बांग्लादेशी खिलाड़ी हैं। अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद शहजाद को वर्ष का एसोसिएट एवं एफिलिएट क्रिकेटर चुना गया। वह यह पुरस्कार हासिल करने वाले अफगानिस्तान के पहले खिलाड़ी हैं। न्यूजीलैंड की सूजी बेट्स को आईसीसी की वर्ष की महिला वनडे क्रिकेटर चुना गया। इसके अलावा आईसीसी की वर्ष की महिला टी20 क्रिकेटर का पुरस्कार भी बेट्स को ही मिला। मारियास इरासमुस को डेविड शेफर्ड ट्रॉफी के लिये आईसीसी का वर्ष का अंपायर चुना गया। आईसीसी स्प्रिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड के लिये पाकिस्तान के कप्तान मिसबाह उल हक को चुना गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग