ताज़ा खबर
 

रंगदारी मामला: आप विधायक गुलाब सिंह ने किया आत्मसमर्पण

आम आदमी पार्टी के विधायक और गुजरात के पार्टी मामलों के प्रभारी गुलाब सिंह ने रविवार को सूरत पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया।
Author भाषा / सूरत / नई दिल्ली | October 17, 2016 03:23 am
आप विधायक- File Photo)

आम आदमी पार्टी के विधायक और गुजरात के पार्टी मामलों के प्रभारी गुलाब सिंह ने रविवार को सूरत पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया। जबरन वसूली के एक मामले के सिलसिले में उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की यहां की रैली से कुछ घंटे पहले सिंह की गिरफ्तारी हुई। सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने कहा, ‘दिल्ली पुलिस गुलाब सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट के साथ आई थी। उन्हें पहले ही मालूम हो गया और वह उर्मा थाने आए, जहां हमने उन्हें दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया।’ दिल्ली पुलिस सिंह की ट्रांजिट रिमांड हासिल करने के लिए उन्हें अदालत ले जाएगी। आत्मसमर्पण करने उर्मा थाने जाने से पहले सिंह ने सर्किट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे पता चला है कि दिल्ली पुलिस मुझे गिरफ्तार करने के लिए सूरत आई है। मैं गिरफ्तारी देने के लिए उर्मा थाने जा रहा हूं और दिल्ली पुलिस से मुझे गिरफ्तार करने के लिए कहता हूं।’

सिंह ने आरोप लगाया, ‘मैं छह सितंबर से गुजरात में हूं और जब 13 सितंबर को प्राथमिकी दर्ज की गई थी, तब भी मैं यहां था। पुलिस ने मेरे कार्यालय पर छापा मारा और उसे कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला। केंद्र आप विधायकों की गिरफ्तारी का निर्देश दे रहा है लेकिन हम झुकने नहीं जा रहे और हम नतीजों के लिए तैयार हैं।’ पिछले महीने दो प्रापटी डीलरों दीपक शर्मा और रिंकु दीवान ने आरोप लगाया था कि सिंह के कार्यालय में काम करने वाले सतीश और देविंदर और एक सहयोगी जगदीशन उनके भवन को गिरवा देने की धमकी देकर उनसे जबरन वसूली कर रहे हैं। इस भवन से दीपक शर्मा और रिंकु दिवान अपना काम करते हैं। बिंदापुर थाने में 13 सितंबर को धारा 384 (जबरन वसूली के लिए दंड) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

इसी बीच, चार दिनों की गुजरात यात्रा पर चल रहे केजरीवाल ने सूरत रवाना होने से पहले वडोदरा में संवाददाताआें से बातचीत करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह रैली को प्रभावित करने का प्रयत्न कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं अमित शाहजी से अपील करता हूं कि यह मेरी रैली नहीं बल्कि जनता की रैली है…. आप देखिए भाजपा के निर्देश पर दिल्ली पुलिस ने 13 विधायकों को गिरफ्तार कर लिया।’ आप विधायक की गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए दक्षिण पश्चिम दिल्ली के संयुक्त पुलिस आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि उन्हें जबरन वसूली की एफआइआर में नाम होने के कारण गिरफ्तार किया गया। सिंह के खिलाफ दर्ज शिकायत के बाद विधायक होने के नाते उन्हें पांच बार पूछताछ में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा गया था। उसके जबाब नहीं मिलने पर जब गैर जमानती वारंट जारी हुआ तो दोबारा उन्हें नोटिस भेजा गया पर वे जबाब नहीं देकर गुजरात चले गए। पुलिस ने वारंट दिखाकर सूरत से उन्हें गिरफ्तार कर लिया। सूरत की कोर्ट में पेश कर अब उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली लाने की औपचारिकताएं की जा रही है। इस मामले में विधायक के चालक सहित तीन लोग पहले ही गिरफ्तार हो चुके हैं।

सूरत में आप की रैली में शामिल हो रहे दिल्ली के मंत्री कपिल मिश्र ने कहा कि सिंह की गिरफ्तारी गुजरात की राजनीति में एक अहम मोड़ है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘सूरत की ऐतिहासिक रैली से महज कुछ घंटे पहले गुलाब सिंह को गिरफ्तार किया गया। यह गुलाब सिंह को रैली में पहुंचने से रोकने के लिए किया गया। गुजरात की राजनीति आज से हमेशा के लिए बदल जाएगी।’उधर, पुलिस ने दावा किया सिंह के कथित सहयोगी सतीश, देविंदर और जगदीश गिरफ्तार किए गए और जांच की गई। जांच से पता चला है कि विधायक की जानकारी में संगठित जबरन वसूली रैकेट चल रहा था। जांच के बाद सिंह का नाम प्राथमिकी में आया और जांच में शामिल होने के लिए उन्हें नोटिस जारी किए गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग