केरलः नोटबंदी के चलते बुजुर्ग व्यक्ति ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

सहकारी बैंक में जमा किए पैसे नहीं निकाल पाने के डर से केरल में एक बुजुर्ग व्यक्ति ने कथित तौर पर फांसी लगा कर खुदकुशी ली जबकि एक अन्य बुजुर्ग व्यक्ति की मौत बैंक की कतार में ही हो गई।

Author कोल्लम (केरल) | November 22, 2016 14:35 pm
प्रतीकात्मक तस्वीर

सहकारी बैंक में जमा किए पैसे नहीं निकाल पाने के डर से केरल में एक बुजुर्ग व्यक्ति ने कथित तौर पर फांसी लगा कर खुदकुशी ली जबकि एक अन्य बुजुर्ग व्यक्ति की मौत बैंक की कतार में ही हो गई। पुलिस ने बताया कि कोट्टायम जिले की पांबा घाटी के चेरूविल्लाइल के रहनेवाले 73 वर्षीय ओमानकुट्टन पिल्लई ने अपने बेडरूम में कल फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिल्लई ने नोटबंदी से पहले सहकारी बैंक में पांच लाख रुपए जमा किए थे और उसके बाद काफी डरे हुए थे कि वह अपना पैसा नहीं निकाल पाएंगे।

एक अन्य घटना में 68 वर्षीय बुजुर्ग चंद्रशेखरन की मौत कोल्लम जिले में एक बैंक के लाइन में खड़े रहने के दौरान हो गई। पुलिस ने बताया कि बीएसएनएल के पूर्व कर्मचारी दूसरी बार बैंक जाने के बाद स्टेट बैंक आॅफ त्रावणकोर की नलीला शाखा की कतार में खड़े थे। बुजुर्ग सुबह में भी बैंक गए थे, लेकिन लंबी लाइन देखने के बाद वह वहां से वापस आ गए।

लंच के बाद दोबारा पैसे निकालने के लिए बैंक गए। बैंक में जब वह अपना टोकन ले रहे थे तभी वह बेहोश होकर गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जिंदगी बचाई नहीं जा सकी। इससे पहले भी स्टेट बैंक आॅफ त्रावणकोर की शाखा में 11 नवंबर को एक बुजुर्ग की मौत कतार में हो गई थी जबकि एक अन्य की मौत बड़े नोट जमा करने के दौरान फॉर्म भरते समय हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 2:33 pm

सबरंग