April 30, 2017

ताज़ा खबर

 

नोटबंदी को लेकर राहुल ने कहा- इस फैसले के पीछे है घोटाला, JPC से जांच कराने की कर रहे मांग

बड़े नोटों को अमान्य करने के निर्णय को दुनिया में सबसे बड़ा अचानक किया गया ‘प्रयोग’ करार देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के पीछे एक घोटाला है जिसकी संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच करायी जानी चाहिए।

Author नई दिल्ली | November 23, 2016 12:08 pm
राहुल गांधी (फाइल फोटो)

बड़े नोटों को अमान्य करने के निर्णय को दुनिया में सबसे बड़ा अचानक किया गया ‘प्रयोग’ करार देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि नोटबंदी के पीछे एक घोटाला है जिसकी संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच करायी जानी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री को सदन में आकर नोटबंदी के मुद्दे पर विपक्ष को सुनना चाहिए। संसद भवन परिसर में नोटबंदी के मुद्दे पर विपक्षी दलों के धरना प्रदर्शन में हिस्सा लेने के बाद राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ ये जो प्रधानमंत्री ने किया है, वह दुनिया का सबसे बड़ा अचानक किया गया वित्तीय प्रयोग है। इसके बारे में उन्होंने किसी ने नहीं पूछा। कहा जा रहा है कि वित्त मंत्री को भी इसकी जानकारी नहीं थी। मुख्य आर्थिक सलाहकार को भी इसकी जानकारी नहीं थी।’

उन्होंने कहा कि यह कदम वित्त मंत्री से चर्चा करके नहीं उठाया गया है, प्रधानमंत्री ने उठाया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मांग की, ‘ प्रधानमंत्री देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह संसद में आएं और नोटबंदी के मुद्दे पर पूरी चर्चा के दौरान बैठें। उन्हें विपक्ष को सुनना पड़ेगा। ’उन्होंने कहा कि देश को लगता है कि इस नोटबंदी के पीछे एक घोटाला है। प्रधानमंत्री और भाजपा अध्यक्ष ने अपने लोगों को इसके बारे में पहले बताया। इसकी जेपीसी से जांच करायी जानी चाहिए।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री के पास पॉप कंसर्ट को संबोधित करने का समय है। वह ऐसे समारोह को संबोधित कर सकते हैं जहां नाच..गाने का कार्यक्रम होता है लेकिन विपक्ष के 200 सांसद एक स्वर से उनसे नोटबंदी पर चर्चा सुनने और जवाब देने की मांग कर रहे हैं… पर उनके पास संसद में आने का समय नहीं है। राहुल गांधी ने सवाल किया कि वह संसद में क्यों नहीं बोल रहे हैं। प्रधानमंत्री संसद के अंदर आने से क्यों डर रहे हैं। कुछ न कुछ तो कारण जरूर रहा होगा कि प्रधानमंत्री संसद में आने से डर रहे हैं। प्रधानमंत्री बतायें।

उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री को फैसले की जानकारी नहीं थी लेकिन भाजपा के संगठन के कुछ लोगों और भाजपा के मित्र उद्योगपतियों को इसकी जानकारी थी।  यह पूछे जाने पर कि अगर वित्त मंत्री को नोटबंदी की घोषणा की जानकारी नहीं थी तब पार्टी के अन्य लोगों को कैसे होगी, राहुल ने कहा कि यह बात नोटबंदी से पहले बैंकों में भारी मात्रा में रकम जमा होने से स्पष्ट होती है। पश्चिम बंगाल एवं अन्य प्रदेशों में भाजपा के लोगों को इसकी जानकारी थी।

नोटबंदी पर विभिन्न विपक्षी दलों की अलग अलग मांगों के बारे में सवाल के जवाब में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि आपने आज देखा कि यहां विपक्ष के 200 से ज्यादा सांसद खड़े थे। पूरा विपक्ष इस मुद्दे पर एकजुट है। सबकी मांग है कि प्रधानमंत्री को बताना चाहिए कि यह निर्णय क्यों लिया।

उन्होेंने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां, कांग्रेस पार्टी कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रही हैं। लेकिन सवाल उठता है कि एक अरब लोगों को इस प्रकार से क्यों परेशान किया गया।  राहुल ने आरोप लगाया, ‘‘ यह सत्ता के कें्रदीकरण के कारण हुआ। इस एक निर्णय के कारण देश की अर्थव्यवस्था पर आघात लगा जो ठीक ठाक चल रही थी। संप्रग के कार्यकाल के अनुरूप तो नहीं थी, पर ठीक चल रही थी। लेकिन नोटबंदी से उस पर प्रहार हुआ। ’

उन्होंने आरोप लगाया कि किसान, मजदूर, मछुआरे, छोटे दुकानदारों एवं व्यवसायियोंं को बड़ी चोट पहुंची है। उन्होंने सवाल किया कि क्या आज लाइन में कोई उद्योगपति, भाजपा का कोई विधायक, सांसद खड़ा है ? राहुल ने कहा, ‘‘कोई सूट-बूट वाला लाइन में दिखता है क्या ?’’
राहुल गांधी ने इस विरोध प्रदर्शन को गरीबों के नेतृत्व में चलाया जा रहा आंदोलन करार दिया। उन्होंने कहा कि संसद की बैठक जब शुरू होती है तो श्रद्धांजलि दिये जाने का चलन है। इस नोटबंदी के कारण काफी संख्या में लोगों की मौत हो गई लेकिन शर्म की बात है कि उनके लिए श्रद्धांजलि देने का समय नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 23, 2016 12:04 pm

  1. A
    amish kumar
    Nov 23, 2016 at 7:46 am
    अगर राहुल जी को राजनीती करने nahi आती है तो unhe छोर देना चाहिए !देस पहले ये बताना चाहिए की ईमानदार देस के p .m को ये निर्णय लेने से क्या फायदा होगा रही बात अम्बानी की और bare udogpati की तो उनके कारण तो कितने घर मैं रोजगार रहने के कारण बेरोजगारी दूर हुआ है इनको क्या क्या फ़ायदा होगा फायदा तो आपको और बईमान नेता को हुआ है जिसके जनता का पैसा लूट कर रखे hai.
    Reply
    1. S
      sanjay
      Nov 23, 2016 at 10:47 am
      कांग्रेस और सभी विपक्षी दल गरीब जनता को मोहरा बनाकर उनको सामने रखकर उनकी परेशानी बताकर अपनी परेशानी दूर करना चाह रहे है नोटबंदी फैसले पर दबाव बनाकर,लेकिन मोदी एक ऐसा महापुरुष है जो एक बार फैसला कर लेता है उसे कभी वापिस नहीं लेता,और जनता भी इस महापुरुष के सभी फैसलो के साथ खड़ी है!इस देश के तमाम पत्रकार शिक्षाविद बुद्दिजीवी अर्थशास्त्री आदि ने मोदी को प्रधानमंत्री बनने से पहले खूब कोसा आलोचना की लेकिन यह महापुरुष उन सभी चुनोतियो को नजर अंदाज कर जनता को सर्वोपरि मानकर आगे बड़ा और जित पाई!
      Reply
      1. S
        sanjay
        Nov 23, 2016 at 10:07 am
        कांग्रेस के नेता अगर घोटाले पर बयान बाजी करे तो यह बात इस देश के सभ्य नागरिक के गले नहीं उतर रही है!क्या मोदीजी नोटबंदी करके घोटाले करेंगे क्या उनके पास यही एकमात्र विकल्प था! राहुलजी घोटाले चुपचाप परदे के पीछे से होता है उसमे जनता को और मीडिया को कानोकान खबर नहीं लगती है! जबकि मोदीजी ने नोटबंदी खुलेआम राष्ट्र को संबोधित करके की है परदे की पीछे नहीं की ! जो लोग जनता की भलाई के लिए देश की सुरक्षा के लिए कार्य करते है वे लोग सरेआम घोषणा करते है और वे लोग महापुरुष कहलाते है!
        Reply
        1. S
          sanjay
          Nov 23, 2016 at 10:28 am
          राहुलगाँधीजी को गरीब निर्दोष लोगो की म्रत्यु पर बहुत अफ़सोस हो रहा है क्योकि अब उनकी सरकार नहीं है इसलिए! जब उनकी सरकार ७० सालो से थी तब देश में गरीबी से बेरोजगारी से आतंकवाद से दंगो में भुखमरी से नक्सलवाद से भरस्टाचार से अनेक जाने गई थी तब उनको दुःख नहीं हुआ अपनी सरकारों से स्तीफा नहीं लिया सरकार बर्खास्त नहीं की !जब मोदीजी ने कालेधन के कुबेरो पर नोटबंदी करके प्रहार किया तो चीख जिन लोगो की निकल रही है जनता उनको ध्यान से देख रही है और उनको सुन भी रही है !
          Reply
          1. S
            shivshankar
            Nov 23, 2016 at 2:45 pm
            २००० का नोट किसके फायदे के लिए बनाया है .....ब्लैक मनी पैदा करने के लिए ? गरीब क्या २००० का नोट लेकर सब्ज़ी लेने जायेगा????????
            Reply
            1. Load More Comments

            सबरंग