ताज़ा खबर
 

विधान परिषद चुनाव में भाजपा-शिवसेना को मिली जीत के लिए चव्हाण ने राकांपा को दोषी ठहराया

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण ने राज्य विधान परिषद चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा-शिवसेना गठबंधन की झोली में आई एक अतिरिक्त सीट के लिए राकांपा को दोषी ठहराया है।
Author मुंबई | November 22, 2016 16:56 pm

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रमुख अशोक चव्हाण ने राज्य विधान परिषद चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा-शिवसेना गठबंधन की झोली में आई एक अतिरिक्त सीट के लिए राकांपा को दोषी ठहराया है। चुनाव के आज घोषित परिणामों पर प्रतिक्रिया देते हुए चव्हाण ने कहा कि सभी छह सीटों पर 3:3 के अनुपात में लड़ने के बजाए राकांपा ने शिवसेना-भाजपा के साथ ‘‘नापाक गठबंधन’’ बनाया ताकि कांग्रेस को दो अरिक्ति सीटें हासिल नहीं हो सके।

राकांपा ने अपने उम्मीदवार हटाकर यवतमाल में शिवसेना को जबकि जलगांव में भाजपा को समर्थन दिया था। इसी तरह पुणे में शिवसेना ने राकांपा को समर्थन दिया था। नांदेड़ में राकांपा ने शिवसेना और भाजपा के साथ मिलकर कांगे्रस के अमर राजुकर के खिलाफ एक निर्दलीय का समर्थन किया था। राज्य कांग्रेस के प्रवक्ता सचिन सावंत ने यह जानकारी दी। चव्हाण ने कहा कि अगर राकांपा यवतमाल और सांगली-सतारा इलाकों को कांग्रेस के लिए छोड़ देती और 3:3 के अनुपात के लिए राजी हो जाती तो दोनों पार्टियां बड़ी आसानी से छह सीटें जीत सकती थीं।

राज्य विधान परिषद में छह सीटों पर हुए द्विवार्षिक चुनाव में राकांपा अपनी चार में से महज एक ही सीट बचा पाई। पार्टी ने पुणे की सीट बचाई, कांग्रेस ने नांदेड़ में जीत दर्ज की और राकांपा से सांगली-सतारा सीट भी छीन ली। भाजपा जलगांव में अपनी सीट बचाने में कामयाब रही। शरद पवार के नेतृत्व वाली पार्टी भांदरा-गोंदिया सीट भाजपा के हाथों हार गई और यवतमाल सीट शिवसेना के हाथों हार गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग