ताज़ा खबर
 

World Ozone Day 2017: ‘सूर्य से पलने वाले जीवन की रक्षा’ थीम पर मनाया जा रहा ओजोन दिवस

World Ozone Day 2017: मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर करने के बाद दुनिया के 190 से अधिक देशों ने कई खतरनाक पदार्थों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया।

16 सितंबर। आज दुनिया भर में ओजोन दिवस मनाया जा रहा है। यह लोगों को ओजोन परत के बारे में जागरूक करने के लिए मनाया जाता है। इस साल विश्व ओजोन दिवस का थीम ‘सूर्य से पलने वाले जीवन की रक्षा’ रखा गया है। यह दिन ओजोन लेयर तोड़ने वाले पदार्थों के मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल पर दस्तखत करने की तारीख को याद दिलाता है। आज (16 सितंबर) इसकी 30वीं सालगिरह है। इसकी 30 वीं सालगिरह से पहले ओजोन सेक्रेट्रिएट ने #OzoneHeroes करके एक कैंपेन भी चलाया है। साल 1994 में संयुक्त राष्ट्र की आम सभा में पूरे विश्व में ओजोन परत के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए 16 सितंबर को विश्व ओजोन दिवस के रूप में मनाने का प्रस्ताव पारित किया गया। प्रस्ताव पारित करते समय यह लक्ष्य रखा गया था कि साल 2010 तक पूरे दुनिया में ओजोन फ्रेंडली वातावरण बनाया जागा। लेकिन ये लक्ष्य अभी भी पूरा नहीं हुआ है। मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल का प्रमुख उद्देश्य कुल वैश्विक उत्पादन से उन पदार्थों के उपभोग को नियंत्रित करने के लिए उपाय करने का है जो कि ओजोन परत के लिए हानिकारक हैं।

पिछले कुछ सालों में देखा गया है कि मानवीय कारणों की वजह से ओजोन परत पर कई तरह के दुष्प्रभाव पड़ते हैं, अगर ओजोन परत पर क्षरण जारी रहा तो आने वाले समय में मनुष्य, जीव-जंतु, वनस्पति का अस्तित्व खतरे में पड़ सकता है। मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल पर हस्ताक्षर करने के बाद दुनिया के 190 से अधिक देशों ने कई खतरनाक पदार्थों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया।

ओजोन परत पृथ्वी की सतह से लगभग 15 से 35 किमी ऊपर स्थित है, जो सूर्य से पृथ्वी पर आने वाली खतरनाक किरणों को रोकती है। हमारे जीवन के लिए ओजोन परत बहुत ही महत्वपूर्ण है। मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल के तहत कई ऐसे रासायनिक पदार्थों के इस्तेमाल पर रोक लगी जो ओजोन के लिए काफी खतरनाक थे। ऐसे 100 से ज्यादा पदार्थ थे जिनका इस्तेमाल वातारण के लिए खतरनाक था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.