ताज़ा खबर
 

समय बचाने के लिए आंधी बाह का कुर्ता पहनते हैं नरेंद्र मोदी, दावा- डिजाइनर कपड़े नहीं पहनते

नरेंद्र मोदी आजादी के बाद जन्मे देश के पहले प्रधानमंत्री हैं।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैशन सेंस की तारीफ राजनीतिक हलकों में खूब होती है। विपक्ष उनके ड्रेसिंग स्‍टाइल को फिजूलखर्ची बताता है, मगर मोदी को इससे फर्क नहीं पड़ता। कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी तो मोदी सरकार को ‘सूट-बूट की सरकार’ कह चुके हैं। नरेंद्र मोदी 2010 के बाद जब राष्‍ट्रीय पटल पर स्‍थापित होने शुरू हुए तो आंधी बांह के उनके कुर्ते खूब चलन में आ गए। तभी एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने बताया था कि ये कुर्ता उन्‍होंने पहनना क्‍यों शुरू किया। आंधी बाह के उन कुर्तों को अब ‘मोदी कुर्ता’ के नाम से जाना जाने लगा है। दो साल पहले, शिक्षक दिवस पर एक कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री ने खुलासा किया कि किसी ने उनके लिए मोदी कुर्ता डिजाइन नहीं किया था। उन्‍होंने तब कहा था कि वह डिजाइनर कपड़े नहीं पहनते।

प्रधानमंत्री का कहना था कि उन्‍होंने अपने कुर्ते की बांहें इसलिए काट दी थीं ताकि उन्‍हें असुविधा न हो। उनके अनुसार, इससे कुर्ता धोना और उसे प्रेस करना आसान हो जाता है। मोदी के अनुसार उन्‍होंने रोज इस तरह दो मिनट बचा-बचाकर अपनी खातिर अच्‍छा-खासा समय बचा लिया है। 2012 में, जब मोदी प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार बने गए, तब अजय देवगन के साथ एक गूगल हैंगआउट में किसी ने उनसे कुर्ते के बारे में पूछा था। तब उन्‍होंने कहा था, ”मैं एक छोटा झोला लेकर खानाबदोशों की जिंदगी जीता था। मैंने कुर्ता काट कर छोटा कर दिया और उसकी भुजाएं काट दीं ताकि उसे कैरी करना आसान हो जाए। ये अलग बात है कि मेरी सादगी कुछ लोगों के लिए फैशन स्‍टेटमेंट बन गई है।”

17 सितंबर 1950 को गुजरात के वडानगर में जन्मे मोदी मई 2014 में वो देश के 14वें प्रधानमंत्री बने। वो आजादी के बाद जन्मे देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। उनकी सरकार के साढ़े तीन साल हो चुके हैं। अगले आम चुनाव 2019 में होने वाले हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.