December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारत-पाकिस्तान संबंधों पर दिए गए अपने ही जवाब से बीएसएफ के डीजी की हो गई बोलती बंद

बीएसएफ के डीजी से कुछ पत्रकारों ने पूछ लिया कि पाकिस्तान और भारत के बीच "दुश्मनी" के बावजूद बीएसएफ त्योहारों पर पाकिस्तानी रेंजरों को मिठाई क्यों खिलाती है?

Author December 1, 2016 14:01 pm
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के डीजी केके शर्मा ( पीटीआई फाइल फोटो)

बुधवार (30 नवंबर) को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की सालाना प्रेस वार्ता में डायरेक्टर-जनरल केके शर्मा को कुछ अनचाहे सवालों का सामना करना पडा़। प्रेस वार्ता के दौरान बीएसएफ के डीजी से कुछ पत्रकारों ने पूछ लिया कि पाकिस्तान और भारत के बीच “दुश्मनी” के बावजूद बीएसएफ त्योहारों पर पाकिस्तानी रेंजरों को मिठाई क्यों खिलाती है? शर्मा ने पत्रकारों को समझाते हुए कहा कि पाकिस्तानी रेंजरों को मिठाई तब खिलाई जाती है जब दोनों देशों के बीच रिश्ते सामान्य होते हैं और आधिकारिक नीतियां जो भी हों दोनों देशों के आम लोग एक दूसरे को प्यार करते हैं। शर्मा ने कहा कि पड़ोसी होने के नाते ये लाजिम है कि आपसी रिश्ते यथासंभव अच्छे रखे जाएं। लेकिन एक पत्रकार शर्मा के जवाब से मुतमईन नहीं हुआ और उसने उनका जवाब देते कहा कि उनका काम ऐसे बयान देना नहीं है क्योंकि “सीमा पर सैनिक मारे जा रहे हैं और इससे उनका मनोबल गिरेगा।” पत्रकार की बात सुनकर शर्मा की बोलती बंद हो गई।

केके शर्मा ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि भारतीय सेना द्वारा एलओसी पारकर पीओके में की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से 15 से ज्यादा पाकिस्तान रेंजर्स के जवान ढेर कर दिए हैं। इसके साथ ही शर्मा ने बताया कि सेना ने 10 से ज्यादा आतंकियों को भी मार गिराया है और इसके साथ ही कई पाकिस्तानी चौकियों को ध्वस्त कर दिया गया है। शर्मा ने साथ ही बताया कि हमनें अपनी सीमा की बाड़ के आधुनिकीकरण के लिए एक ठोस कदम उठाए हैं।

शर्मा ने साथ ही बताया कि नगरोटा हमले में शामिल आतंकी बोर्डर पर एक सुरंग के रास्ते से घुसपैठ की है। अभी हमारे पास ऐसी कोई तकनीक नहीं है, जिससे सुरंग का पता लगाए जा सके। हम लोग तकनीक का इस्तेमाल करते हुए सीमा पर बाड़ के बीच की जगह को भरने के लिए कदम उठा रहे हैं। साथ ही शर्मा ने बताया कि हम सांबा घुसपैठ और सुरंग का मामला पाकिस्तान समकक्ष के सामने उठाएंगे।

मंगलवार को जम्‍मू कश्‍मीर में दो जगहों पर आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया था। पहले नगरोटा में सेना की टुकड़ी पर फिदायीन हमला किया गया। आतंकियों ने ग्रेनेड फेंका और यूनिट के अंदर घुसने का प्रयास किया। इन हमलों में सेना के सात जवान शहीद हो गए। नगरोटा जम्‍मू से 20 किलोमीटर दूर है और हाइवे पर बसा हुआ है। यहां पर 16 कॉर्प्‍स का हैडक्‍वार्टर भी है।

वीडियोः राहुल गांधी का ट्विटर अकाउंट हैक; किए गए गांधी परिवार के बारे में आपत्तिजनक ट्वीट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 1, 2016 10:03 am

सबरंग