ताज़ा खबर
 

‘आरक्षण खत्म नहीं करेंगे’

बीआर आंबेडकर की विरासत को याद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इस बात से इनकार किया कि उनकी सरकार आरक्षण व्यवस्था को रद्द करने वाली है..
Author मुंबई | October 12, 2015 08:57 am
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीटीआई फोटो)

बिहार विधानसभा के पहले चरण के चुनाव की पूर्व संध्या पर बीआर आंबेडकर की विरासत को याद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को इस बात से इनकार किया कि उनकी सरकार आरक्षण व्यवस्था को रद्द करने वाली है।

यहां एक सभा में उन्होंने कहा, ‘जब भी भाजपा की कोई सरकार सत्ता में होती है, झूठे लोगों का एक समूह दुर्भावनापूर्ण प्रचार करता है कि हम आरक्षण को खत्म करने वाले हैं। अटल बिहारी वाजेपयी की सरकार के दौरान भी यही हुआ था’। मोदी ने कहा, ‘झूठी बातें बंद होनी चाहिए। समाज में आतंक पैदा करने का काम बंद होना चाहिए। यह राजनीति नहीं है’।

एमएमआरडीए मैदान में अपने 45 मिनट के भाषण में मोदी ने कहा, ‘आरक्षण ऐसी चीज है जो बाबासाहेब आंबेडकर ने हमें दी है और कोई भी ताकत इसे छीन नहीं सकती। मैंने गरीबी देखी है। मैंने इसे जिया है। समाज के वंचित तबकों के उत्थान के लिए काफी कुछ किया जाना बाकी है, उनकी बेहतरी के लिए बाबासाहेब प्रतिबद्ध थे’।

आंबेडकर को महापुरुष करार देते हुए मोदी ने कहा कि उन्होंने जीवन में बहुत सारी चुनौतियों का सामना किया लेकिन कभी भी बैर-भाव नहीं रखा और न उनमें कभी बदले की भावना रही। मोदी ने कहा, ‘यदि आंबेडकर नहीं होते तो यह मोदी कहां होता’। राष्ट्र की सेवा में आंबेडकर के योगदान को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाएगा। गौरतलब है कि 26 नवंबर 1949 को ही भारत का संविधान स्वीकार किया गया था।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यदि दीर्घकालिक सोच के अभाव में हम यह कहें कि आंबेडकर का संबंध दलितों से है, तो यह उनके साथ अन्याय होगा। वे हर किसी से जुड़े हुए हैं’। मोदी ने कहा, ‘मैं राजनीति में नहीं पड़ना चाहता, लेकिन यह सच है कि हमें संविधान देने वाले आंबेडकर की प्रतिमा संसद में तभी लग सकी जब एक भाजपा समर्थित सरकार सत्ता में आई’।

प्रधानमंत्री ने आंबेडकर को देश के सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित करने में हुई देरी की भी निंदा की। कमजोर तबकों के प्रति अपनी पार्टी की प्रतिबद्धता दोहराते हुए मोदी ने कहा कि दलितों, आदिवासियों और अन्य पिछड़े वर्गों की अधिकतम जनसंख्या वाले राज्यों ने भाजपा की सरकारों को चुना है। उन्होंने इस बात पर भी संतोष जताया कि आंबेडकर स्मारक की आधारशिला रखने के मौके पर विभिन्न दलित पार्टियों के नेता एक मंच पर आए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.