ताज़ा खबर
 

व्यापमं: दिवंगत पत्रकार अक्षय सिंह के परिवार ने ठुकराई मध्य प्रदेश सरकार की मदद

दिवंगत पत्रकार अक्षय सिंह के परिवार ने मध्य प्रदेश सरकार से किसी भी तरह की मदद लेने से इंकार किया है, हालांकि उन्होंने मांग की है कि अक्षय की मौत की वजह का पता लगाने के लिए निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज परिवार से मुलाकात की।
Author July 9, 2015 13:19 pm
दिवंगत पत्रकार अक्षय सिंह के परिवार ने ठुकराई मध्य प्रदेश सरकार की मदद

दिवंगत पत्रकार अक्षय सिंह के परिवार ने मध्य प्रदेश सरकार से किसी भी तरह की मदद लेने से इंकार किया है, हालांकि उन्होंने मांग की है कि अक्षय की मौत की वजह का पता लगाने के लिए निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज परिवार से मुलाकात की।

पीड़ित परिवार को सांत्वना देने के लिए चौहान की मुलाकात के बाद अक्षय की बहन ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री ने मप्र सरकार से हर संभव मदद का भरोसा दिया। उन्होंने धन संंबंधी मदद के अलावा मुझे दिल्ली स्थित मध्य प्रदेश भवन में नौकरी की पेशकश की।’’

अक्षय की मां ने कहा कि परिवार को किसी चीज की जरूरत नहीं है लेकिन इस मामले की गहन जांच होनी चाहिए।
उन्होंने कहा, ‘‘जब वह घर से निकला था तो पूरी तरह स्वस्थ, फिट और ठीक था। अचानक क्या हो गया कि उसकी रहस्यमयी मौत हो गई। हमें किसी मदद की जरूरत नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष जांच चाहते हैं ताकि मेरे बेटे की मौत की वजह के बारे में पता हो सके।’’

व्‍यापमं घोटाला, व्यापम, पत्रकार अक्षय सिंह, शिवराज सिंह चौहान, Vyapam Scam, Vyapam journalist death, Akshay Singh, Shivraj Singh Chauhan दिवंगत पत्रकार अक्षय सिंह के परिवार ने ठुकराई मध्य प्रदेश सरकार की मदद

 

दिवंगत पत्रकार की बहन ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री सुबह 8:50 बजे हमारे घर पहुंचे और करीब 9:05 बजे यहां से गए। उन्होंने अपना दुख और संवेदनशीलता प्रकट की। परंतु आखिरकार वह नेता हैं और हमें उनको काम से परखने की जरूरत है।’’

दिल्ली के एक प्रमुख समाचार चैनल के लिए काम करने वाले पत्रकार अक्षय की पिछले दिनों झबुआ में रहस्यमयी स्थिति में मौत हो गई थी। वह उस लड़की के मां-बाप का साक्षात्कार लेने गए थे जिसका नाम व्यापमं घोटाले में आने के बाद रेल पटरी के निकट उसका शव मिला था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग