December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

विराट कोहली ने करोड़ों रुपयों के ‘ठग’ को बेची ऑडी, लिए थे 2.5 करोड़ रु

लाखों डॉलर के कॉल सेंटर रैकेट की जांच में लगी क्राइम ब्रांच की टीम को पता चला है कि धोखाधड़ी करने वाले ग्रुप के मुख्य आरोपी सागर ठक्कर उर्फ शैगी ने भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली से ऑडी गाड़ी खरीदी थी।

विराट कोहली। (फाइल फोटो)

 

लाखों डॉलर के कॉल सेंटर रैकेट की जांच में लगी क्राइम ब्रांच की टीम को पता चला है कि धोखाधड़ी करने वाले ग्रुप के मुख्य आरोपी सागर ठक्कर उर्फ शैगी ने भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली से ऑडी गाड़ी खरीदी थी। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, 23 साल के शैगी ने विराट कोहली की हरियाणा नंबर की ऑडी को 2.5 करोड़ रुपए में खरीदा था। उस वक्त गाड़ी का मार्केट प्राइस 3 करोड़ रुपए के लगभग था। शैगी ने वह गाड़ी 7 मई को खरीदी थी। हालांकि, शैगी ने शक होने के डर से गाड़ी को अपने पास नहीं रखा था। उसने दिल्ली में रहने वाले अपने एक दोस्त को कार छिपाने के लिए दे रखी थी। उसने उस गाड़ी को अपने रिश्तेदार के यहां रोहतक भेज दिया था। खबर के मुताबिक, शैगी कार लेते वक्त अपना पैन कार्ड दिखाते हुए हिचक रहा था लेकिन कोहली की तरफ से गाड़ी तब ही दी गई जब पूरे पैसे चुका दिए गए।

पुलिस को अंदाजा है कि शैगी ने यह गाड़ी उन्हीं पैसों से खरीदी होगी जो उसने अमेरिकी नागरिकों को ठगकर कमाए थे। शैगी इस वक्त पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। क्राइम ब्रांच ने कहा है कि इस बारे में उनकी तरफ से फिलहाल विराट कोहली या फिर उनके किसी जानने वाले से कोई बात नहीं की गई है। खबर के मुताबिक, क्रिकेटर से आगे भी इस बारे में कोई बात नहीं की जाएगी।

वीडियो: 78 कॉल सैंटरों के कर्मचारियों को अमेरिकी नागरिकों को ठगने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया

गौरतलब है कि इन लोगों ने भारत में एक गिरोह बनाकर कई सारे कॉल सेंटर खोल रखे थे। इनका नेटवर्क अहमदाबाद, महाराष्ट्र जैसी कई जगहों पर था। ये लोग अमेरिका में रहने वाले लोगों को गृह विभाग, आंतरिक राजस्व सेवा या कोई अन्य सरकारी अधिकारी बनकर फोन करते थे। ये लोग उनको गिरफ्तारी या नागरिकता जाने का डर दिखाकर पैसे जमा करने को कहते थे। अहमदाबाद के जिन पांच कॉल सेंटरों ने अमेरिका में रह रहे लोगों को कॉल किया उनमें एचग्लोबल, कॉल मंत्रा, वर्ल्डवाइड साल्यूशन, जोरियान कम्युनिकेशंस तथा शर्मा बीपीओ सर्विसेज शामिल थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 29, 2016 8:39 am

सबरंग