ताज़ा खबर
 

पत्रकार की गिरफ्तारी पर छत्तीसगढ़ पुलिस ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा-विनोद वर्मा के घर से मिलीं 500 सीडियां

Vinod Verma, Journalist: विनोद वर्मा एक वरिष्ठ पत्रकार हैं, जिन्होंने देशबंधु, बीबीसी और अमर उजाला जैसे संस्थानों में अपनी सेवाएं दी हैं। वह फिलहाल कांग्रेस के मीडिया सेल का काम देख रहे थे।
वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा

नई दिल्ली
वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की यूपी के गाजियाबाद से गिरफ्तारी के मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने गिरफ्तारी से जुड़ी तमाम डिटेल्स पत्रकारों से शेयर की। पुलिस ने बताया कि गाजियाबाद में विनोद वर्मा के घर से 500 सीडियां बरामद की गई हैं। पुलिस ने इस सीडी में अश्लील कंटेंट होने की आशंका तो जताई, लेकिन इसमें असल में क्या है, इस बात की जानकारी पुलिस नहीं दे पाई। पुलिस ने कहा है कि वह इस सीडी को अब फोरेंसिक जांच के लिए भेजेगी। बता दें कि कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सीडी छत्तीसगढ़ सरकार के एक रसूखदार मंत्री की है, जिसमें वह एक लड़की के साथ आपत्तिजनक हालात में नजर आ रहे हैं।

कौन हैं विनोद वर्मा: विनोद वर्मा एक वरिष्ठ पत्रकार हैं, जिन्होंने देशबंधु, बीबीसी और अमर उजाला जैसे संस्थानों में अपनी सेवाएं दी हैं। वह फिलहाल कांग्रेस के मीडिया सेल का काम देख रहे थे।

क्या है पूरा मामला: बताया जा रहा है कि विनोद वर्मा की गिरफ्तारी जिस शख्स की शिकायत पर हुई है, उसका नाम प्रकाश बजाज है। पुलिस के मुताबिक, शिकायकर्ता ने बताया था कि उसे कुछ वक्त से कॉल करके धमकी दी जा रही थी। धमकी यह कि अगर उनकी शर्तों को नहीं माना गया तो उसके ‘आका’ की सीडी सार्वजनिक कर दी जाएगी । हालांकि, पुलिस ने यह नहीं बताया कि इस मामले में ‘आका’ कौन है। पुलिस के मुताबिक, गुरुवार दोपहर शिकायत दर्ज किए जाने के बाद आगे की कार्रवाई की गई।

कैसे हुई गिरफ्तारी: पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता को धमकी देते हुए कहा गया था कि सीडी में क्या है, वह चाहे तो आकर जांच सकता है। उसे एक पता भी दिया गया था। शिकायतकर्ता के बताए गए पते पर पुलिस ने जांच की तो पाया कि वहां एक शख्स सीडी की कॉपी तैयार करने का काम करता है। उस शख्स ने बताया कि उसे एक सीडी के 1 हजार कॉपी बनाने का ऑर्डर मिला था। पुलिस के मुताबिक, इस व्यक्ति के कॉल रिकॉर्ड से विनोद वर्मा से बातचीत के बारे में जानकारी मिली। फिर नंबर के गाजियाबाद में होने के बारे में पता चला। इसके बाद, छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस की मदद से विनोद वर्मा के घर पर छापा मारा। पुलिस के मुताबिक, उसे वहां से 500 सीडी मिली है। पुलिस का कहना है कि दिल्ली में भी जिसने सीडी की कॉपियां तैयार की है, उसने भी इस बात की पुष्टि की है कि सीडी विनोद वर्मा ने बनवाई है।

‘धमकी विनोद ने नहीं दी’: पुलिस ने यह माना कि शिकायतकर्ता को विनोद वर्मा द्वारा धमकी दिए जाने की पुष्टि नहीं हो सकी है। शिकायतकर्ता को किसने फोन करके धमकी दी, यह तुरंत इसलिए नहीं पता चल सका क्योंकि उसके पास लैंडलाइन था। पुलिस के मुताबिक, वह लैंडलाइन पर आने वाले कॉल्स की डिटेल्स जुटा रही है। पुलिस ने यह भी कहा है कि सीडी किसने बनाई, यह भी पता नहीं चल सका है। उसका कहना है कि विनोद वर्मा को पूछताछ के लिए अब छत्तीसगढ़ लाया जाएगा। इसके लिए उन्हें दिल्ली की अदालत में पेश करके ट्रांजिट रिमांड की अर्जी दी जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    ananad
    Oct 27, 2017 at 3:16 pm
    बीकानेर के भुजिया बाजार में स्थित पांचवी शताब्दी से अधिक प्राचीन चिंतामणि जैन मंदिर रखी 500 से 2025 वर्ष से अधिक प्राचीन 1116 दुर्लभ प्रतिमाओं को मंदिर भु-गर्भ भंड़ार से बाहर निकाला जायेगा। पढ़ें : : bikanerpride /bkn-chintamani-jain-temple-bkn-html/
    (0)(0)
    Reply