ताज़ा खबर
 

Video: सीआरपीएफ जवान ने खोला मोर्चा, कहा-मोदी ने देश को दि‍या धोखा, नहीं खि‍लने देंगे कमल

सीआरपीएफ जवान ने अपनी मांगों को लेकर 21 दिन की भूख हड़ताल करने की घोषणा की है।
सीआरपीएफ जवान पंकज मिश्रा। (Photo Source: Facebook)

सुकमा माओवादी हमले के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह की निंदा करने वाले सीआरपीएफ जवान पंकज मिश्रा ने अब एक और वीडियो अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह के खिलाफ मोर्च खोला है। पंकज मिश्रा ने इस वीडियो में कई मांगे सरकार के सामने रखी हैं। 7 अक्टूबर को अपलोड किए गए इस वीडियो में पंकज मिश्रा ने 21 दिनों की भूख हड़ताल की घोषणा भी की है। जवान ने साथ ही कहा कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गई तो साल 2019 में कमल का फूल कीचड़ में भी नहीं खिलने देंगे।

राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए वीडियो में कहा गया है, ‘सुकमा कांड के बाद मैंने राजनाथ सिंह की निंदा की थी। उसके बाद मुझे पीटा गया। जांच खुली तब भी मेरी पिटाई की गई। राजनाथ सिंह जी ये क्या करवा रहे हो? आपको इतनी ही शर्म आती है तो आप बताएं कि आपने अभी तक अपने कार्यकाल में क्या किया है? आपके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या किया है? समझ में नहीं आता कि वे प्रचार मंत्री हैं या पर्यटन मंत्री। पूरे देश को उन्होंने गुमराह किया है। राष्ट्र को धोखा दिया है, उन्हें राष्ट्र से माफी मांगनी चाहिए।’

यहां देखें वीडियो-

साथ ही जवान ने वीडियो में कहा, ‘न्यायपालिका तीन तलाक पर फैसला दे सकती है, शादी से पहले सेक्स पर फैसला दे सकती है। लेकिन वह आरक्षण पर नहीं बोलेगी। भारत में अंग्रेजी क्यों है, इस पर नहीं बोलेगी। यहां तक सैन्य ढांचा में तो दखल करेगा ही नहीं। इस पर न्यायपालिक बोलेगा कि ये सेना का मामला है, हम नहीं जानते। पुलिस शिकायत दर्ज नहीं करती। न्यायपालिक दखल नहीं देती। विधायिका सुनती नहीं। तो हम कहां जाएं? आजादी के 70 साल बाद भी सैन्य ढांचा में अंग्रेजी कानून क्यों मौजूद हैं।? क्या हम उन्हें बदल नहीं सकते? हम हमारे समानता के अधिकारों की मांग कर रहे हैं। मोदीजी तक यह वीडियो पहुंचाने के लिए मैं 21 दिनों की भूख हड़ताल कर रहा हूं। हमारी मांगों को पूरा किया जाए, वरना साल 2019 में कीचड़ में भी कमल का फूल नहीं खिलने देंगे।’

पंकज मिश्रा ने दो और वीडियो पोस्ट की हैं। जिसमें एक वीडियो में वह जवानों को मिलने वाला खाना दिखा रहे हैं तो दूसरे वाले वीडियो में उन्होंने जवानों के रहने की जगह दिखाई है। इसके साथ ही उन्होंने एक पोस्ट भी लिखी है, जिसमें उन्होंने अपनी मांगों का जिक्र किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Oct 16, 2017 at 10:02 pm
    BSF के चोर और मक्कार अफसर बहुत ही कायर भी हैं , इसलिए उनकी इतनी हिम्मत नहीं हो सकती की जवानो का राशन बेच कर, सारा माल खुद हज़म कर जाएँ ! इसका मतलब साफ़ है की गृह मंत्रालय के कुछ आला अफसरों का भी सपोर्ट BSF के अफसरों को हासिल है और ये लोग आपस में गिरोह बना कर , जवानों का पैसा उड़ा रहे हैं !
    (0)(0)
    Reply
    1. D
      Dev Verma
      Oct 12, 2017 at 8:13 pm
      In whole CRPF this is only jawan who has problem and not others... why can't others go on strike if really there is any problem...good way to get famous at least people will know your face...don't worry rahul gandhi and kejriwal on the way to join you with help...
      (3)(5)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Oct 12, 2017 at 5:57 pm
        पंकज मिश्राजी ! ये निकम्मी बीजेपी सरकार सिर्फ मंदिर, मस्जिद के नाम पर लोगों को बांटकर , राज्य करते रहना चाहती है ! मज़दूरों, किसानों, जवानों , दलितों, निर्भीक पत्रकारों और मुसलमानों की दुश्मन है बीजेपी सरकार ! कभी क़र्ज़ में डूबे गरीब किसानों पर मंदसौर में फायरिंग करवाई जाती है तो कभी जुन्नैद और पहलु खान की निर्मम हत्या ! कभी गुजरात के ऊना में दलित की हत्या की जाती है तो कभी गौरी लंकेश, नरेंद्र दाभोलकर, गोविन्द पंसारे, एम.एम.कल ्गी और शांतनु भौमिक जैसे सच्चाई सामने लाने वाले पत्रकारों की हत्या की जाती है ! पंकज मिश्राजी ! अब उजाला ज्यादा दूर नहीं ! साल 2019 में लोकसभा चुनाव यदि सिर्फ VVPAT युक्त EVM मशीनों से हुए , तो निश्चित ही अमर शहीद प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरागांधी के पोते और अमर शहीद प्रधानमंत्री राजीवगांधी के सुपुत्र राहुल गाँधी , हिन्दोस्तान के वजीरेआजम बनेंगे और हर हिंदुस्तानी को इन्साफ मिलेगा !
        (10)(6)
        Reply
        1. M
          manish agrawal
          Oct 12, 2017 at 5:42 pm
          पंकज मिश्राजी ! BSF के चोर और मक्कार अफसर महँगी शराब, काजू बादाम का लुत्फ़ लेते हैं और दुश्मन की फायरिंग के वक़्त , जवानों को आगे कर , उनके पीछे छुप जाते हैं ! इसीलिए दुश्मन की बुलेट इन कायर BSF ऑफिसर्स को हिट नहीं कर पाती ! हिन्दोस्तान की फौज, पुलिस और CRPF के अफसर , अपने जवानों के कंधे से कन्धा मिलाकर, दुश्मन की फायरिंग का मुकाबला करते हैं और इसीलिए शहीद भी हो जाते हैं ! BSF के जवान पानी जैसी पतली दाल , चाय और परांठा खाकर शहीद होते रहते हैं ! धिक्कार है निकम्मी और जु ेबाज बीजेपी सरकार पर !
          (6)(4)
          Reply
          1. M
            manish agrawal
            Oct 12, 2017 at 5:32 pm
            पंकज मिश्राजी ! CRPF के Commandant प्रमोद कुमार साल 2015 में कश्मीर में शहीद हुए ! कर्नल संतोष महादिक भी साल 2015 में कश्मीर में शहीद हुए ! मेजर सतीश दहिया, मेजर क ेश पांडे, कैप्टेन आयुष यादव, लेफ्टिनेंट उमर फ़ैयाज़, डिप्टी सुपरिन्टेन्डेन्ट ऑफ़ पुलिस मुहम्मद अयूब पंडित और SHO फ़िरोज़ अहमद डार ने भी पिछले 1 साल में कश्मीर में शहादत दी ! लेकिन गृह मंत्रालय के दामाद ये कायर, चोर और मक्कार BSF के क्लास-2 और क्लास-1 ऑफिसर्स कभी शहादत नहीं देते !
            (3)(4)
            Reply
            1. M
              manish agrawal
              Oct 12, 2017 at 5:07 pm
              पंकज मिश्रा ! आपकी नौकरी तो समझो , गयी ! हिन्दोस्तान की बीजेपी सरकार , जवानों के साथ ऐसा ही सलूक करती है ! BSF के वीर जवान तेजबहादुर यादव ने घटिया भोजन मिलने की शिकायत की तो इन्क्वायरी की नौटंकी करके , उसको ही बर्खास्त कर दिया गया ! अपने ही जवानों का बेहतरीन सरकारी राशन चुराकर बेच देने वाले BSF के चोर और मक्कार अफसरों को साफ़ क्लीनचिट देदी ,इस निकम्मी केंद्र सरकार ने ! पंकज मिश्राजी ! आप CRPF में हैं इसलिए अभी तक बचे हुए हैं , यदि BSF में होते तो कभी के बर्खास्त कर दिए गए होते या मार डाले गए होते ! क्योंकि BSF के ऑफिसर्स बहुत और मक्कार हैं !
              (3)(4)
              Reply
              1. Load More Comments
              सबरंग